Wednesday, Sep 18, 2019
why lord ganesha loves modak know the reason in hindi

#GaneshChaturthi गणेश चतुर्थी पर आखिर क्यों लगता है भगवान गणेश को मोदक का भोग, यहां पढ़ें

  • Updated on 9/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देशभर में आज गणेश चतुर्थी (Ganesha Chaturthi) का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। लोग अपने घरों में भगवान गणेश का स्वागत गाजे-बाजे के साथ कर रहे हैं। इतना ही नहीं सभी मंदिरों और पंडालों में गणपति बप्पा मोरेया की आवाजें काफी तेजी से गूंज रही हैं। हर साल भगवान गणेश के जन्मोत्सव पर उन्हें घर लेकर आया जाता है और करीब 10 दिनों तक उनकी विधि-विधानपूर्वक पूजा की जाती है।

गणेश चतुर्थी: इन स्वादिष्ट पकवानों से कर सकते हैं गणपति बप्पा का स्वागत

Navodayatimes

मोदक चढ़ाने से होती हैं सभी मनोकामनाएं पूरी

हिंदू धर्म (Hindu Religion) के मुताबिक जो भी इस दिन भगवान गणेश (Lord Ganesha) की सच्चे मन और साफ दिल से पूजा करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। यही नहीं भगवान उनके जीवन से सभी विघ्न और बाधाओं को भी दूर कर देते हैं। इस दिन सभी लोग भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए उनके मनपसंद पकवान बनाते हैं और भजन गाते हैं। कहते हैं कि भगवान गणेश को व्यंजन और संगीत बहुत प्रिय होता है। लेकिन उससे भी ज्यादा भगवान गणेश को अधिक प्रिय हैं उनके मोदक।

Ganesha Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, होगी सभी इच्छाएं पूरी

Navodayatimes

क्यों पसंद हैं मोदक

पौराणिक कथाओं की मानें तो भगवान गणेश को मोदक इसलिए प्रिय हैं क्योंकि जब भगवान गणेश और परशुराम जी (Parshuram Ji) के बीच युद्ध हुआ तो इस बीच परशुराम जी का फर्सा गणेश के दंत (दांतों) पर जाकर लग गया था, जिसकी वजह से वह भोजन नहीं कर पा रहे थे। उनके इस तकलीफ को देखते हुए मां पार्वती ने उनके लिए मोदक बनाएं जिससे गणेश आसानी से भोजन कर सकें।

गणेश चुतर्थी 2019: संकष्टी चतुर्थी पर इन विशेष चीजों में बरते सावधानी, नहीं तो होगा अनर्थ

Navodayatimes

खूशी और ज्ञानी का प्रतीक है मोदक

चूंकि, मोदक बहुत मूलायम और मूंह में आसानी से घुल जाते हैं इसलिए भगवान गणेश को मोदक अधिक प्रिय लगे और यह उनका पसंदीदा पकवान बन गया। आपको बता दें कि, मोदक (Modak) का अर्थ होता है खूशी और ज्ञानी जिसके प्रतीक माने जाते हैं भगवान गणेश और इसकी कारण मोदक का भोग भगवान गणेश को लगाया जाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.