Wednesday, Apr 08, 2020
madhya-pradesh-cm-kamalnath-government-fall

ट्विस्ट मोड में मध्य प्रदेश कांग्रेस 

  • Updated on 3/9/2020

मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार में विश्वास के मामले पर मची हाय-तौबा के बाद अब यह स्पष्ट हो रहा है कि दरअसल विभिन्न कांग्रेस नेताओं में लड़ाई विशेष तौर पर राज्यसभा की एक सीट तथा कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष की सीट को लेकर है। सूत्रों के अनुसार श्रम मंत्री मङ्क्षहद्र सिसौदिया पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के करीबी हैं। यदि सिंधिया को नजरअंदाज किया जाता है तो कमलनाथ सरकार को संकट का सामना करना पड़ सकता है।

ज्योतिरादित्य सिंधिया राज्यसभा की सीट तथा प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी चाहते हैं जिस पर फिलहाल मुख्यमंत्री कमलनाथ कब्जा जमाए हुए हैं। इस बीच एक आजाद विधायक सुरेन्द्र सिंह शेरा का नाम सामने आया है। उन्होंने शनिवार को कहा है कि वह पार्टी के साथ हैं और इस बात से इंकार किया कि उनका अपहरण किया गया था। कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि भाजपा उसके विधायकों को बरगलाकर सरकार को गिराने के लिए प्रयासरत है।

हालांकि अन्य तीन कांग्रेस विधायकों हरदीप सिंह, बिसाहू लाल सिंह तथा रघुराज कंसाना का अभी तक कोई अता-पता नहीं है लेकिन वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह को उम्मीद है कि वह भी जल्द ही वापस लौट आएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि कमलनाथ सरकार चलती रहेगी क्योंकि हमारे नेता सिद्धांत की राजनीति में विश्वास रखते हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.