Wednesday, Oct 16, 2019
big decision taken in iit council meeting

IIT काउंसिल की मीटिंग में लिया गया बड़ा फैसला, जानें पूरा मामला

  • Updated on 10/4/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली (IIT Delhi) के डायरेक्टर प्रो. वी राम गोपाल राव ने आईआईटी काउंसिल (IIT Council) की मीटिंग में एमटेक पाठ्यक्रमों में फीस बढ़ोतरी पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि एमटेक पाठ्यक्रमों में सुधार के लिए 3 सदस्यीय समिति बनाई गई थी जिसकी रिपोर्ट आईआईटी काउंसिल में समिट होने पर आईआईटी काउंसिल ने एमटेक पाठ्यक्रमों से छोड़कर जा रहे स्टूडेंट्स को रोकने के लिए एक कमेटी रिपोर्ट जारी की है।

CBSE बोर्ड का ऐलान, मार्च के पहले हफ्ते से शुरू होगी परीक्षाएं

जिसमें एमटेक पाठ्यक्रमों (M.Tech Course) को सुधारने के लिए विभिन्न परिस्थतियों में फीस बढ़ोतरी का विकल्प रखा गया है। गेट क्वालीफाई करके आने वाले बहुत से छात्रों को भी 12400 रुपए स्कॉलरशिप दी जाएगी। जिनमें सिर्फ रिजर्व कैटेगरी (Reserve Category) ही नहीं सामान्य कैटेगरी (General Category) के छात्र भी होंगे। उन्होंने कहा कि बिना आईआईटी काउंसिल की रिपोर्ट पढ़े कुछ रपटों में ये कहा गया कि एमटेक छात्रों की बहुत फीस बढ़ा दी गई है। कुछ लोगों ने इसका विरोध भी किया। जबकि यह पूरा सच नहीं है।

DU जल्द शुरू करने जा रहा Distance Education, ये ऑनलाइन कोर्सेज होंगे उपलब्ध

एमटेक स्टूडेंट को मिल सकती है पीएचडी की डिग्री: आईआईटी (IIt) डायरेक्टर प्रो. वी राम गोपाल राव ने कहा कि जो एमटेक के छात्र एमटेक पूरा करने के बाद पीएचडी करना चाहते हैं तो उनका एमटेक प्रोग्राम पीएचडी में कन्वर्ट किया जाएगा जिससे उन्हें पीएचडी की डिग्री मिल सकेगी।

गेट परीक्षा के टॉप 200 में आने वाले छात्रों को मिलेगा फ्री दाखिला 

प्रो. वी. राम गोपाल ने कहा अगले सत्र से एमटेक पाठ्यक्रमों में पढ़ने वाले सभी छात्रों की फीस नहीं बढ़ा रहे हैं। इसके अलावा हम गेट के टॉप 200 छात्रों को एमटेक पाठ्यक्रमों में फ्री में दाखिला भी दे रहे हैं उनसे कोई फीस नहीं ली जाएगी और उन्हें स्कॉलरशिप भी मिलेगी। हम आईआईटी काउंसिल मीटिंग में लिखे नोट्स के अनुसार कुछ छात्रों को टीचिंग असिस्टेंट बना रहे हैं जैसे मान लीजिए कि इंजीनियरिंग विभाग में 200 असिस्टेंट टीचरों की आवश्यकता है तो हम इन छात्रों को वहां टीए बनाएंगे।

UP Board 2020: 10वीं 12वीं के छात्रों के लिए बोर्ड ने जारी किए मॉडल पेपर

जहां इनका काम ट्यूटोरियल बनाने व छात्रों को दिखाने में मदद करना, लैब में मदद करना। जिसके लिए हर विभाग से ये पूछा जा रहा है कि उन्हें कितना टीचिंग असिस्टेंट चाहिए जो छात्र टीचिंग असिस्टेंट बनाए जाएंगे। उनकी फीस (Fees) भी माफ होगी और स्कॉलरशिप (Scholarship) भी दी जाएगी।

अगर कोई स्टूडेंट टीचिंग असिस्टेंट में नहीं आ पाया उसे कोई इंडस्ट्री सपोर्ट भी नहीं है तो कई इंडस्ट्री आईआईटी में प्रोग्राम करती हैं हम 3 एमटेक छात्रों को वहां स्पॉन्सर करना चाहते हैं। जोकि हमारे प्रोजेक्ट के ऊपर काम करेंगे। कुछ छात्र जो न इंडस्ट्री सपोर्ट है न टीए बने हैं और आर्थिक रूप से कमजोर भी नहीं हैं जिनके परिवारों की वार्षिक आय 9 लाख से ज्यादा है उनके लिए यह फीस बढ़ोतरी की जाएगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.