iit-delhi-organized-conference-on-increasing-the-number-of-foreign-students-in-research

रिसर्च में विदेशी छात्रों की संख्या बढ़ाने पर IIT दिल्ली ने आयोजित की कांफ्रेंस

  • Updated on 7/25/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (Indian institute of technology) ने बुधवार को भारत में उच्च शिक्षा के लिए प्राप्त नए अवसरों पर ‘ग्लोबलाइजेशन ऑफ आईआईटी दिल्ली’ (Globalization of IIT Delhi) कार्यक्रम का आयोजन किया। जिसमें विभिन्न देशों के राजदूत, शिक्षा एवं संस्कृति से जुड़े कई देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

इस योजना के तहत ब्रिटेन के 200 युवाओं को मिलेगा भारत में पढ़ने का अवसर

सम्मेलन में आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi at the conference) के डायरेक्टर प्रो. वी राम गोपाल राव ने कहा कि किसी भी उच्च शिक्षण संस्थान के लिए सांस्कृतिक विविधता बहुत महत्वपूर्ण होती है। यही एक बात भारत के प्रमुख संस्थानों में नहीं दिखाई देती। आईआईटी दिल्ली  ने इस मसले पर काम करने के लिए कदम बढ़ा दिए हैं। हम ऐसे छात्र तैयार करना चाहते हैं जो वैश्विक दृष्टिकोण विकसित करें और अपने चुने हुए क्षेत्र में वैश्विक खिलाड़ी बनें।

DU में दाखिले का आज अंतिम दिन

जब विपरीत माइंड सेट के लोग एक-दूसरे से बात करते हैं तो रचनात्मकता शुरू होती है। हमारा लक्ष्य संस्थान के शोध कार्यक्रमों में कम से कम 10 फीसद विदेशी छात्रों को लेने का है जो कि वैश्विक जरूरतों के अनुसार प्रौद्योगिकी प्लेटफार्मों पर काम कर सकते हैं। बीते साल से इस साल वैसे 4 गुना अधिक छात्रों ने आईआईटी दिल्ली के शोध कार्यक्रमों में प्रवेश लिया है।

सरकारी स्कूलों में जल्द होगी नए प्रिंसिपल की नियुक्ती

सम्मेलन में एलुमनी अफेयर्स और इंटरनेशनल प्रोग्राम्स के डीन प्रो. संजीव सांघी ने भी अपना संबोधन दिया। सम्मेलन में इंडोनेसिया, साउथ कोरिया, मेक्सिको, ब्रिटेन, स्वीडन, अर्जेटाइन रिपब्लिक, बंगलादेश, युगांडा, नामीबिया, ब्रूनेई, गाम्बिया, लिथुआनिया आदि देशों ने भाग लिया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.