Tuesday, Oct 04, 2022
-->
alka-yagnik-on-remix-songs

अलका याग्निक ने रिमिक्स गानों को लेकर दी अपनी प्रतिक्रिया, बताया Fast Food

  • Updated on 2/29/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इन दिनों हिंदी सिनेमा में रिमिक्स और रीमेक का चलन जोरों-शोरों पर है। आजकल बॉलीवुड (bollywood) की हर दूसरी फिल्म किसी ना किसी का रीमेक होती है या तो फिल्म में पुराने गानों का लेटेस्ट वर्जन देखने को मिलता है। ऐसे में कई लोगों को ये चलन पसंद आया तो कई ऐसे भी कलाकार हैं जो इसके खलाफ हैं। 

अलका याग्निक, उदित नारायण और कुमार सानु को FWICE ने दी हिदायत, PAK के साथ न रखें संबंध

अलका याग्निक ने रिमिक्स गानों बताया Fast Food
हाल ही में बॉलीवुड की मशहूर सिंगर अलाका याग्निक (alka yagnik) ने भी रिमिक्स गानों का विरोध किया है और इसे फस्ट फूड का नाम दे दिया है। जी हां, उन्होंने कहा है कि 'मैं रिमिक्स गानों के सख्त खिलाफ हूं। पहले के गानों में सादगी होती थी, एक अलग ही माहौल होता था जोकि आजकल के गानों में नहीं होता।' 

B'day Spl: 6 साल की उम्र में अलका याग्निक ने कर दिया था ये कारनामा

वहीं जब उनसे पूछा गया कि आजकल जो रिमिक्स सॉन्ग बन रहे हैं वो हिट होते हैं तो अलका ने जवाब में कहा कि ये गाने पहले से ही सुपरहिट होते हैं तभी इन गानों का रिमिक्स बनाया जाता है। 

वहीं अलका ने ये भी कहा कि 'जो लोग आजकल के किम्क्स गानों को गंदा बताते हैं तो इसपर मैं कहना चाहूंगी कि अब इस बात का जिम्मेदार सिंगर है या फिर सुनने वाला ये बता पाना मुश्किल है। मैं आशा करती हूं बहुत जल्द भारतीय संगीत में राग आधारित गानों की वापसी होगी।

 'छैंया छैंया' के रिक्रिएशन पर मलाइका का आया ऐसा Reaction, कहा- इसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं...

वहीं कुछ दिन पहले  बॉलीवुड की फिटनेस फ्रिक मलाइका अरोड़ा (malaika arora) से उनके मशहूर गाने छैंया-छैंया (chaiyya chaiyya) के रिक्रिएशन के बारे में पूछ गया तो उन्होंने कहा कि 'ये जैसा है वैसा ही रहने दें। कुछ गानों को कभी रिक्रिएट नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि वह प्रतिष्ठित हैं। इसके साथ कोई छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए क्योंकि आज भी जब आप इस गाने को सुनते हो तो खुद को डांस करने से नहीं रोक पाते हो।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.