Monday, Jan 21, 2019

पुण्यतिथि विशेष: LIC में करते थे नौकरी, 40 की उम्र में कुछ ऐसे बदली थी अमरीश पुरी की किस्मत

  • Updated on 1/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 1980 के दशक में अभिनेता अमरीश पुरी ने अपनी पहचान ऐसी बना ली थी कि बच्चे उनका चेहरा देखकर ही डर जाते थे और बच्चों को डराया भी यह कहकर जाता था कि जल्दी सो जाओ वरना मोगैंबो आ जाएगा। अमरीश पुरी का गैटअप फिल्मों में एकदम खुंखार टाइप का हुआ करता था, जिसे देख कोई भी घबरा जाए। अमरीश पुरी को बॉलीवुड का बेस्ट विलेन माना जाता है और रहेगा क्योंकि उनके गुजरने के बाद बॉलीवुड को दूसरा दमदार खलनायक अभी तक नहीं मिला।

22 जून 1932 को लाहौर, पंजाब ( पाकिस्तान) में जन्मे अमरीश को 12 जनवरी, 2005 को कैंसर की बीमारी की वजह से ब्रेन हेमरेज हो गया था। उनकी मृत्यु के बाद कई अखबारों ने 'मोगैम्बो खामोश हुआ' हैडलाइन बनाई।

अमरीश ने 2 दशक तक फिल्मों में काम किया। अमरीश ने 416 से अधिक फिल्मों में अपना योगदान दिया। फिल्म 'मिस्टर इण्डिया' में मोगाम्बो का किरदार निभाने के बाद से उनके करियर में नया मोड़ आया। वैसे उन्हें फिल्म 'हम पांच' (1981) से पहचान मिलनी शुरु हो गई थी।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

We get it on talking about the perplexing, infuriating and brilliant Indiana Jones and Temple of Doom. Link in our profile.

A post shared by A Quality Interruption (@aqualityinterruptionpod) on Jan 5, 2019 at 10:51pm PST

LIC में नौकरी

हीरो बनने का सपना लेकर मुंबई आए अमरीश पहले ही स्क्रीन टेस्ट में फेल हो गए थे। बाद में उन्होंने भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) में नौकरी कर ली। बीमा कंपनी की नौकरी के साथ ही वह पृथ्वी थिएटर में काम करने लगे। थिएटर करने के बाद धीरे-धीरे वो टीवी विज्ञापनों में नजर आने लगे। 40 की उम्र में उन्हें बॉलीवुड में ब्रेक मिला।

अमरीश असल जिंदगी में फिल्मी पर्दे से बिल्कुल अलग थे। अमरीश पुरी ने हिंदी के अलावा, कन्नड़, मराठी, पंजाबी, मलयालम, तेलुगु, तमिल और कुछेक हॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया।

फिल्में

फिल्म 'विधाता' और 'हीरो' ने उन्हें हीरो-विलेन बना दिया। उस वक्त अमजद खान यानी गब्बरसिंह का जादू उतार पर था। 
 इसके बाद 'फूल और कांटे', 'दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे', 'राम लखन', 'ताल', 'त्रिदेव', 'सौदागर', 'करण अर्जुन', 'घायल', 'गदर', 'मंथन', 'मेरी जंग', 'मि. इण्डिया', 'मुस्कराहट', 'नगीना', 'दामिनी' जैसी कई फिल्मों में उन्होंने खतरनाक परर्फोमेंस दी। उनकी आंखे सबकुछ बोद देती थी। 

Navodayatimesविदेशी हैट

अमरीश हैट के दिवाने थे। उनके कलेक्शन में 200 से ज्यादा देसी-विदेशी हैट थे।
 
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.