Wednesday, Jan 26, 2022
-->
anurag-kashyap-vikramaditya-motwane-and-vikas-bahls-phantom-films-production-breaks

अब फिल्मों से पहले नहीं सुनाई देगा 'फ' से 'फैंटम', अलग हुए 4 जीनियस फिल्मकार

  • Updated on 10/6/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। फैंटम शब्द तो अपको याद हीं होगा, अगर नहीं याद तो चलिए आपको याद दिला देते हैं। बॉलीवुड की कई फिल्मों के शुरुआत में पहले चॉक की आवाज के साथ स्क्रीन पर बच्चे 'फ' से फैंटम चिल्लाते हुए सुनाई देते हैं। जो आपको फैंटम शब्द बताता है। फैंटम प्रोडक्शन अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी, विकास बहल और मधु मंटेना साथ मिलकर काम करते थे। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की यह रिश्ता अब नहीं रहा। अह आप इस फैंटम शब्द को नहीं सुन पाएंगे। 

कुछ एेसा भारत चाहती हैं माधुरी दीक्षित, शेयर किया बचपन का माजेदार किस्सा

आपको बता दें, अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी, विकास बहल और मधु मंटेना फैंटम प्रोडक्शन की स्थापना करीब सात साल पहले की थी। इस टूटते रिश्ते को अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी ने अपने-अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिए कंन्फर्म किया है। फैंटम के बंद होने से जहां इस प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले बनने वाली फिल्मों के प्रशंसकों को झटका लगा है, वहीं यह फैसला इन चारों पार्टनर के लिए भी मुश्किल ही रहा है। इसकी झलक भी दरअसल अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी के ट्वीट में नजर आ रही है।

विक्रमादित्य मोटवानी ने एक ट्वीट के जरिए फैंटम के बंद होने की घोषणा करते हुए लिखा है- 'विकास, मधु, अनुराग और मैंने फैंटम में अपनी पार्टनरशिप खत्म कर अपने-अपने रास्तों पर आगे बढ़ने का फैसला लिया है। अभी तक की यह पार्टनरशिप मेरी जिंदगी की काफी शानदार, महान और क्रेजी यात्रा की तरह रही है। ये मेरे तीन पार्टनर मेरी फैमिली की तरह रहे हैं, जिन्होंने हर वक्त मेरा साथ दिया। मैं पिछले 7 सालों तक एक-दूसरे का सपोर्ट करने के लिए उनका जितना भी शुक्रिया अदा करूं वह कम होगा। उम्मीद करता हूं कि जब आगे अच्छा वक्त आएगा तब हमारे रास्ते जरूर एक-दूसरे से टकराएंगे।' विक्रमादित्य के इस ट्वीट से जाहिर है कि उनके लिए फैंटम को बंद करने का फैसला आसान नहीं रहा है। कुछ ऐसा ही अनुराग कश्यप के ट्वीट से भी झलक रहा है।

अनुराग कश्यप ने ट्वीट कर लिखा- 'फैंटम एक सपना था, एक बहुत सुंदर सपना और हर सपने का अंत होता ही है। हमने अपना बेस्ट दिया इसमें हम सफल भी हुए और असफल भी रहे। ..लेकिन मुझे यकीन है कि हम इससे मजबूती से उबरेंगे और अपने-अपने रास्तों पर बुद्धिमता से चलकर अपने सपने पूरे करेंगे। हम एक-दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं।'

इस प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले ही अनुराग कश्यप ने कल्ट कही जाने वाली 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' सीरीज बनाई तो विक्रमादित्य मोटवानी ने 'लुटेरा' और ' विकास बहल ने 'क्वीन' जैसी यादगार फिल्म का निर्माण किया। अब इन चारों फिल्मकारों ने अपने-अपने रास्ते अलग करने का फैसला कर लिया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.