Monday, Sep 26, 2022
-->
bday special dream of ar rahman is still incomplete anjsnt

B'day Special: पद्म भूषण से सम्मानित ए आर रहमान का ये सपना आज भी है अधूरा

  • Updated on 1/5/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अपनी अवाज से हर किसी को अपना दीवाना बनाने वाले बॉलीवुड सिंगर ए आर रहमान (Ar rahman) आज अपना जन्मदिन मना रहे हैं। उनके इस खास दिन पर आज हम आपको उनके उस सपने के बारे में बताने जा रहे हैं जो आज तक सिर्फ सपना ही बना रहा।

इंजीनियर बनना चाहते थे रहमान
दुनिया में कई ऑस्कर अवॉर्ड अपने नाम कर चुके बॉलीवुड सिंगर ए आर रहमान ने भले ही कई ऊचाइयों को छुआ हो लेकिन आज भी उनका एक सपना अधूरा बचा हुआ है। ए आर रहमान बचपन में एक इंजीनियर बनना चहाते थे लेकिन मजबूरियों के कारण वो सिंगर बन गए।1980 में दुरदर्शन पर आ रहे एक शो में सबसे पहली बार एर आर रहमान नजर आए थे। उस  शो में एक लड़के ने एक साथ चार की बोर्ड बजाया था जिसने सभी का ध्यान अपनी ओर खीच लिया और वो महज 13 साल का लड़का आज लाखों लड़कियों का प्यार एआर रहमान थे।

Video: प्रेगनेंसी के 9वें महीने Anushka ने किया कुछ ऐसा, हैरान रह जाएंगी गर्भवती महिलाएं

ए आर रहमान के असली नाम की कहानी
ए आर रहमान के नाम के पीछे भी एक कहानी है जिसे शायद ही कोई जानता होगा। ए आर रहमान का असली नाम दिलीप कुमार था लेकिन उनकी जिंदगी एक ऐसी घटना घटी जिसकी वजह से उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन कर लिया।जब वो 23 साल के थे तो उस वक्त उनकी बहन की तबीयत अचानक खराब हो गई। जिसके बाद वो परिवार के साथ एक इस्लामिक धार्मिक स्थल पर गए जिसके बाद उनकी बहन की तबीयत ठीक हो गई।

हिंदू ज्योतिष ने दिया मुस्लिम नाम
इसके बाद उनका विश्वास इस्लामिक धर्म के प्रति बढ़ गया। उसके बाद जब वो अपनी बहन की शादी के लिए हाथ दिखाने के लिए गए तो वहां पर उन्होंने कहा कि मुझे भी अपना नाम बदलना है तो हिंदू ज्योतिष ने मुस्लिम नाम दिए। ज्योतिष ने अब्दुल रहमान और अब्दुल रहीम  ये तीन नाम दिए। जिसके बाद सिंगर को रहमान नाम पसंद आया। उसके बाद उन्होंने अपने नाम को बदलकर एआर रहमान रख लिया।

सुशांत केस में आया नया मोड़, NCB दफ्तर के बाहर नजर आए रिया- शौविक

 मिल चुके हैं ये अवॉर्ड
लाखों दिलों की आवाज बन चुके बॉलीवुड सिंगर को कई अवॉर्डस से नवाजा जा चुका है। उन्हें  2 अकादमी (ऑस्कर) अवार्ड, 2 ग्रैमी, एक बाफ्टा, 4 नेशनल, 15 फिल्मफेयर और 15 फिल्मफेयर साउथ अवॉर्ड जीते। उन्हें पद्म श्री और पद्म भूषण से सम्मानित किया जा चुका है। आपको बता दें कि एआर रहमान ने देश की आजादी के 50 साल पूरे होने पर एक एलबम बनाया था जिसका नाम वंदे मातरम था। जब साल 2002 में  बीबीसी वर्ल्ड सर्विस ने 7000 गानों में से 10 गाने चुनने का सर्वेक्षण कराया तो उसमें दूसरे स्थान पर वंदे मातरम का नाम आया। 

पढ़ें बॉलीवुड की बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.