Saturday, Jul 31, 2021
-->
bombay high court  today kangana vs bmc case anjsnt

Kangana Vs BMC: बॉम्बे हाईकोर्ट में BMC को लगाई फटकार, मांगा ये जवाब

  • Updated on 9/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के दफ्तर में हुई तोड़फोड़ के मामले में आज बॉम्बे हाइकोर्ट (Bombay High Court) एक बार फिर से सुनवाई शुरु हो गई है।

 Update

  • बॉम्बे हाईकोर्ट में BMC को लगाई फटकार
  • BMC ने जवाब  देने का मौका नहीं दिया- कंगना का वकील
  • कोर्ट में शुरु हुई सुनवाई

आज हाईकोर्ट ने बीएमसी से उस कार्रवाई पर जवाब मांगा है। जो उसने कंगना रनौत के दफ्तर पर की है। बीएमसी को बताना है कि जितनी जल्दी उन्होंने कंगना के दफ्तर को तोड़ने में कि बाकी मामलों में क्या उनती ही तेजी दिखाई है।

अनुराग कश्यप पर कार्रवाई न होने से नाराज हैं पायल घोष, दी ये चेतावनी

BMC से पूछा था ये
बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने शुक्रवार को बृह्नमुंबई महानगरपालिका (BMC) से पूछा कि क्या नौ सितंबर को उसके द्वारा कंगना रनौत के बंगले के जिस हिस्से को गिराया गया था वह निर्माणाधीन था या वह पहले से ही मौजूद था। बंगले के हिस्से को ध्वस्त करने के खिलाफ कंगना द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस एसजे कथावाला और जस्टिस आरआई छागला ने पूछा कि बीएमसी ने भूतल पर मौजूद कई ढांचों को क्यों गिराया। 

यशराज फिल्म्स के 50 साल पूरे होने पर आदित्य चोपड़ा ने रिलीज किया ये विशेष Logo

5 सितंबर को भेजा था नोटिस
बीएमसी के मुताबिक, कंगना ने पाली हिल वाले बंगले में बिना अनुमति कई बदलाव किए जिसके खिलाफ पांच सितंबर को पहला नोटिस दिया गया। अदालत यह जानना चाहती है कि बदलाव गैर कानूनी था या नहीं, क्या वह पहले से ही मौजूद था क्योंकि बीएमसी कानून की धारा-354ए के तहत महानगरपालिका केवल गैर कानूनी तरीके से चल रहे निर्माण कार्य को ही रोक सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.