Monday, Aug 15, 2022
-->
dilip kumar tragedy king life unknown facts jsrwnt

इस ट्रैजेडी की वजह से दिलीप कुमार को दिया गया था ट्रैजेडी किंग का टाइटल

  • Updated on 7/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंदी फिल्म जगत के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार (dilip kumar) का निधन हो गया है। पिछले कई दिनों से वे अस्पताल में भर्ती थे। सांस संबंधित परेशानी के चलते उन्हें मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 98 की उम्र में दिलीप साहब ने यहीं पर आखिरी सांस ली। उनकी पत्नी अभिनेत्री सायरा बानो उनसे बेइंतहां मोहब्बत करती थी और आखिरी सांस तक दिलीप कुमार का उन्होंने ख्याल रखा।

मुहम्मद युसूफ खान उर्फ दिलीप कुमार को हिंदी फिल्म सिनेमा का ट्रैजेडी किंग भी कहा जाता था, लेकिन उन्हें ये टाइटल यूं ही नहीं मिला था। इसके पीछे भी एक दिलचल्प किस्सा है। इसी टाइटल के चलते उन्हें साइकायट्रिस्ट के पास भी जाना पड़ा था। 
dilip kumar

जब ट्रैजेडी किंग के साथ हुई ट्रैजेडी
साल 1955 में आई फिल्म 'देवदास' के बाद से दिलीप साहब ने लगातार कुछ ऐसी फिल्में साइन की जिसका असर उनके निजी जीवन पर भी पड़ा और वह मानसिक रूप से काफी तनाव में आ गए थे। इसके बाद उन्हें ट्रेजिडी किंग का टाइटल मिल गया। उनकी तबियत के लिहाज से डॉक्टरों ने उन्हें गंभीर फिल्मों के बजाय हल्की-फुल्की फिल्में करने की सलाह दी। 

dilip kumar

ऐसे दौर में डायरेक्टर एस यू सनी और दिलीप साहब फिल्म 'कोहिनूर' के लिए साथ आए। इस फिल्म में उनके अपोजिट मीना कुमारी को भी साइन किया गया, जिन्हें भी इंडस्ट्री की 'ट्रेजिडी क्वीन' के नाम से पुकारा जाता था। दोनों ने इस बार कुछ हटके दर्शकों के सामने पेश किया। फिल्म में दोनों के मजाकिया अंदाज को खूब पसंद किया गया। फिल्म सुपरहिट साबित हुई।

B'day Special: 96 साल के हुए दिलीप कुमार, सुनें ट्रैजेडी किंग के कुछ सदाबहार नगमे

इसके बाद दिलीप साहब ने अपने फिल्मी किरदारों को अच्छे से मैनेज किया। इस फिल्म के बाद दिलीप साहब ने कई कॉमेडी फिल्में इस इंडस्ट्री को दी, जिसमें गोपी, लीड़र और राम और श्याम जैसी फिल्में शामिल हैं।

dilip kumar

क्रिकेटर बनना चाहते थे दिलीप कुमार
बता दें दिलीप कुमार क्रिकेटर बनना चाहते थे। उन्हें क्रिकेट का जनून था। यहां तक की एक बार उनके दोस्तों ने उन्हें कॉलेज के नाटक में हिस्सा लेने के लिए कहा तो भी उन्होंने साफ मना कर दिया था। 

11 दिसंबर 1922 को पेशावर में मुहम्मद युसूफ खान यानी कि दिलीप कुमार का जन्म हुआ था। दिलीप कुमार ने साल 1944 में फिल्म ज्वार-भाटा से अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद उन्होंने 'नया दौर', 'देवदास', 'मुगल-ए-आजम' और 'क्रांति' जैसी कई शानदार फिल्में दीं। उन्होंने अपने करियर में कुल 54 फिल्में की हैं। इसमें से ज्यादातर फिल्में सुपरहिट रही हैं। दिलीप कुमार के निधन से आम जनता सहित फिल्म इंडस्ट्री में शोक का माहोल है। 

comments

.
.
.
.
.