Monday, Jun 27, 2022
-->
durgamati movie review bhumi pednekar in hindi anjsnt

Movie Review: मजबूत दिल के साथ देखें भूमि पेडनेकर की हॉरर-थ्रिलर फिल्म 'दुर्गामती'

  • Updated on 12/11/2020

फिल्म : दुर्गामती द मिथ
निर्देशक : जी अशोक
प्लेटफार्म : अमेज़न प्राइम
कलाकार : भूमि पेंडेकर, अरशद वारसी,करण कपाड़िया,माही गिल,जिशु सेनगुप्ता
रेटिंग : 3 स्टार

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आखिरकार वो दिन आ ही गया जिसका हर किसी को इंतजार था। काफी दिनों से एक हॉरर फिल्म का इंतजार कर रहे दर्शकों के लिए अमेजन प्राइम वीडियो ने हॉरर-थ्रिलर दुर्गामती को रिलीज कर दिया है। तमिल-तेलुगु फिल्म भागमती की हिंदी रिमेक इस फिल्म में आपको भूमि पेडनेकर, अरशद वारसी, माही गिल और करण कपाड़िया नजर आने वाले हैं। 

कहानी 
दुर्गामती की कहानी की बात करें तो फिल्म की शुरुआत एक ऐसे राज्य से होती है जो काफी गरीब है। इसी राज्य के जल संसाधन मंत्री ईश्वर( अरशद वारसी) रहते हैं। ईश्वर प्रसाद ने काफी कम वक्त में वो मुकाम पा लिया था जहां उन्हें देखकर मुख्यमंत्री तक उनसे जलने लगे। ऐसे में राज्य मुख्यमंत्री और उनके वफादार ईश्वर को भ्रष्टाचारी घोषित करने के लिए सीबीआई की मदद लेते हैं।

ईश्वर चंद्र को भष्टाचारी घोषित करने के लिए ईश्वर के खिलाफ सबूत की जरूरत होती है। इसलिए वो ईश्वर चंद्र की 10 साल पहले सचिव रही चंचल चौहान से मदद लेने की कोशिश करते हैं लेकिन  चंचल चौहान ( भूमि पेंडेकर) ने अपने मंगेतर ( करण कपाड़िया) की हत्या के जुर्म में जेल में बंद है।चंचल से पूछताछ करने के लिए वो उसे एक ऐसे हवेली में लाते हैं जो पिछले काफी दिनों से बंद है।अब वो उस भूतिया हवेली से दुर्गामती की आत्म का सामने करते हुए चंचल से ईश्वर चंद्र के खिलाफ सूबत इक्ट्ठा कर पाते हैं या नहीं। ये देखने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

एक्टिंग
इस फिल्म में भूमि पेंडनेकर से लेकर अरशद वारसी तक काफी जाने मानें सितारों ने काम किया है और उन सभी ने अपने किरदारों के साथ न्याय करने की पूरी कोशिश की है। भूमि पेंडनेकर के किरदार को और भी डरावना बनाया जा सकता था।

डायरेक्शन
फिल्म की कहानी की बात करें तो ये साउथ की फिल्म भागमती की हिंदी रिमेक हैं। दुर्गामती के लेखक और निर्देशक जी. अशोक ने कहानी में जान डालन की पूरी कोशिश की है लेकिन शायद उनकी मेहनत पूरी तरह से दर्शकों तक नहीं पहुंची।फिल्म की कहानी में राजनीति में वंशवाद, भ्रष्टाचार, हिंदुत्व, मंदिर ,जल संकट,इन मुद्दों को भी डाला गया है लेकिन फ़िल्म किसी भी मुद्दे के साथ न्याय नहीं कर पाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.