Friday, Dec 02, 2022
-->
ekta-kapoor-and-sri-sri-ravishankar-heart-to-heart-talk-aljwnt

एक ही मंच पर साथ नजर आए श्री श्री रविशंकर और एकता कपूर, की 'Heart to Heart' बातचीत!

  • Updated on 5/9/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। निर्माता एकता कपूर (Ekta Kapoor) ने महामारी के कारण उत्पन्न लॉकडाउन के इस खतरनाक समय के दौरान भय और अव्यवस्था के अंधेरे के बीच आशा की रोशनी प्रदान की है। एकता ने जरूरत के विभिन्न क्षेत्रों में अपना समर्थन बढ़ाया है।

हालांकि, निर्माता के अच्छे कामों की सूची यहीं समाप्त नहीं होती है। निर्माता को 8 मई के दिन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक लाइव स्ट्रीम में देखा गया, जहां वह ग्लोबल ह्यूमेनिटेरियन और आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर (Sri Sri Ravishankar) के साथ बहुत बातचीत करते हुए नजर आईं।

कहानी के साथ-साथ 'पाताल लोक' में और भी है बहुत कुछ खास, 110 लोकेशन्स पर हुई शूटिंग!

एकता ने कर्मा पर पूछे सवाल
इस दौरान एकता ने गुरुदेव से कुछ बेहद ही व्यावहारिक सवाल पूछे। निर्माता ने कर्मा के विषय पर कुछ स्पष्टता प्राप्त करते हुए उनसे पूछा, 'तो कर्मा की क्या भूमिका है? अगर हर कोई अपना भाग निभा रहा है, तो कर्मा का जन्म कहां से हो रहा है? कर्मा संयोग से परे है, यह वही है जो हम करते हैं?'

श्री श्री रविशंकर ने दिया ये जवाब
जिस पर श्री श्री रविशंकर ने जवाब दिया, 'सही कहा। अतीत में जो कुछ हुआ है वह कर्मा का नतीजा है, जिस क्षण आप समझ जाते हैं कि यह कर्मा का नतीजा है, तो आप पहले से स्वतंत्र हैं। आपके लिए यहां कुछ तो च्वॉइस है और कुछ आपका भाग्य है।'

सेना की पृष्ठभूमि से होने के कारण, मैं शहीदों के परिवार का दुःख समझ सकती हूं- प्रणति राय प्रकाश

कई और विषयों पर भी हुई चर्चा
एकता कपूर और गुरुदेव ने विकास, यौन अपराध, प्यार और जीवन में मूल्य जोड़ने जैसे कई मिश्रित विषयों को भी कवर किया। इस बातचीत ने वास्तव में दर्शकों की आंखें खोल दीं और ऐसे विभिन्न विषयों को हाईलाइट किया है जिनके बारे में हम दिन-प्रतिदिन बेहद कम बात करते हैं।

जब एकता ने गुरुदेव से पूछा कि क्या वे जीवन के बाद वाले जीवन में विश्वास करते हैं, तो उन्होंने उत्तर दिया, 'विश्वास नहीं, मैं जानता हूं। विश्वास उसमें करना पड़ता है जिसके बारे में हम जानते नहीं।'

डिनर के बहाने शर्लिन चोपड़ा को बुलाते थे फिल्ममेकर और फिर.....

दर्शकों के लिए उत्साहजनक रहा ये शो
एकता कपूर की बदौलत दर्शकों को इस तरह की एक दिलचस्प और मनोरंजक बातचीत का अनुभव करने का मौका मिला। वह वास्तव में ऐसे कठिन समय के दौरान आशा का प्रतीक हैं और इस सब के बीच सकारात्मकता की खुराक सभी दर्शकों के लिए वास्तव में बहुत उत्साहजनक है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.