Tuesday, Dec 07, 2021
-->
follow these yoga steps for normal delivery sosnnt

नॉर्मल डिलीवरी चाहिए तो ये तीन योगासन जरूर करें

  • Updated on 12/2/2020

नई दिल्ली टीम डिजिटल। अगले साल जनवरी के महीने में कई बॉलीवुड सितारों के घर किलकारियां गूंजने वाली हैं। बॉलीवुड की बेबो करीना कपूर खान (kareena kapoor khan) बहुत जल्द अपने दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली हैं। वहीं दूसरी तरफ अनुष्का शर्मा (anushka sharma) भी प्रेग्नेंट हैं। ऐसे में इन दिनों यह दोनों एक्ट्रेसेस जमकर अपना प्रेगनेंसी पीरियड एंजॉय कर रही हैं।

सोशल मीडिया (social media) पर इनकी तस्वीरें खूब वायरल होती हैं जहां उनके चेहरे पर प्रेगनेंसी ग्लो साफ देखने को मिल रहा है। 

PIC: प्रेगनेंसी के 8वें महीने में अनुष्का ने किया 'शीर्षासन', विराट ने पकड़े पैर

वहीं प्रेगनेंसी के 8वें महीने में खुद को स्वस्थ और फिट रखने के लिए योगा जारी रखा है। हाल ही में उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की जहां वह शीर्षासन करती हुई दिखाई दी। इस दौरान उनके पति विराट कोहली (virat kohli) उनकी मदद कर रहे थे।

यह सभी जानते हैं कि नॉर्मल डिलीवरी महिलाओं के सेहत के लिए सही होती है। लेकिन कई बार कुछ दिक्कतों की वजह से डॉक्टरों को सिजेरियन डिलीवरी करनी पड़ती है। वहीं अगर किसी गर्भवती महिला प्रेगनेंसी के दौरान स्वस्थ और हेल्थी है तो वह इन सब दिक्कतों से बच सकती हैं। ऐसे में सिजेरियन डिलीवरी से बचने के लिए हर गर्भवती महिला को योगा करना अनिवार्य है जिससे उनका स्वास्थ ठीक रहेगा और उन्हें लेबर पेन भी कम होगा।

वहीं इनमें से तीन महत्वपूर्ण योगासन है जो पेल्विक मसल्स को मजबूत बनते हैं। बता दें कि पेशाब करते वक्त बीच में रोकने के लिए जिन मांसपेशियों का उपयोग आप करते हैं उन्हें ही पेल्विक मसल्स कहा जाता है। तो आइए जानते हैं इन आसन के बाएं में को महिलाओं को नॉर्मल डिलीवरी करने में मदद दायक होती है। 

मिनी येलो ड्रेस में कुछ इस तरह बेबी बंप फ्लॉन्ट करती नजर आईं अनुष्का शर्मा

स्टैंडिंग स्क्वाट्स
इस आसन को खड़े होकर किया जाता है। इसे करने से पेल्विक मसल्स मजबूत होंगे जिससे डिलीवरी के वक्त दर्द काम होगा। वहीं अगर आप इसे पहली बार कर रहे हो तो केवल दस बार ही करें फिर धीरे धीरे इसे बढ़ाएं। बता देगी से 15 से 20 बार किया जाता है।

मालासन
इसे प्रेगनेंसी की दूसरी तिमाही से शुरू किया जाता है। इस आसन को करने से नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं और इसके साथ ही यह आसन गर्मवती महिलाओं का मूड भी फ्रेश हो जाता है।

बध्दकोणासन
इसे आप पूरे 9 महीने तक कर सकते हैं। इसे कम से कम 20 से 30 बार किया जा सकता है। यह आसन गर्वती महिलाओं के लिए बेहद लाभदायक साबित होता आया है क्योंकि इसे करने से नेचुरल डिलीवरी में आसानी होती है। 

सर्दियों में अपने Dry Lips को ऐसे रखें नर्म, अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

शादीशुदा व्यक्ति को डेट करने से पहले जान लें इसका परिणाम

ठंड में अमरूद का सेवन करने से ठीक हो जाएगी बवासीर, जानें और भी फायदें

इन कारणों से Single लोग रहते हैं ज्यादा स्वस्थ और खुश

सर्दियों में खांसी-जुकाम से हैं परेशान तो अपनाएं ये रामबाण घरेलू नुस्खे 

सरकार नहीं चाहती लोगों की Mental Health सुधारना! देश में नहीं हैं सुविधाएं और विकल्प, एक नजर....

कोरोना के मद्देनजर Digital हुआ India Couture Week , दिख रहे फैशन के खास अंदाज

अगर आप मोटापे से हैं परेशान तो Follow करें ये 3 फार्मूले वाली डाइट

आज गणेश चतुर्थी के दिन किस करवट बैठेगा आपका भाग्य? जानिए अपनी राशि का हाल...

Hair Care: अगर आप बाल झड़ने से हैं परेशान तो अपनाएं ये 5 घरेलू उपाय

 

 

comments

.
.
.
.
.