Wednesday, Oct 05, 2022
-->
friday-release-blank-movie-review

Film Review: सस्पेंस से साथ करण कपाड़िया का शानदार डेब्यू है 'ब्लैंक'

  • Updated on 5/3/2019

स्टारकास्ट: सनी देओल, करण कपाड़िया, करणवीर शर्मा, इशिता दत्ता, अक्षय कुमार

डायरेक्टरः बेहजाद खंबाटा

रेटिंग: 2.5 स्टार/5*

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आज सिनेमाघरों में कार्निवल मोशन पिक्चर्स द्वारा निर्मित 'ब्लैंक' (blank) रिलीज हो गई है। इस फिल्म में सनी देओल(sunny deol), करण कपाड़िया (karan kapadia), करणवीर शर्मा (karanveer sharma) और इशिता दत्ता (ishita dutta) लीड रोल में हैं। यह करण कपाड़िया की डेब्यू मूवी है। करण मशहूर एक्ट्रेस डिंपल कपाड़िया (dimple kapadia) के भांजे और अक्षय कुमार (akshay kumar) के साले हैं। यह फिल्म एक सुसाइड बॉम्बर के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपनी याददाश्त खो देता है, जबकि उसके दिल में एक बम लगा होता है। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

#Repost @blankthefilm • • • • • • The #GoBlank fever is running high with celebs going gaga over it! Book your tickets now on : https://in.bookmyshow.com/movies/blank/ET00084155 @akshaykumar @twinklerkhanna @meerachopra @arjunkapoor @therealemraan @aslisona @tigerjackieshroff @behzu @karankapadiaofficial @iamsunnydeol @karanvirsharma @ishidutta @jameel.mumbai #EchelonProductions @carnivalpicturesindia @EaseMyTrip #DrShrikantBhasi @nishantpitti #TonyDsouza @itsvishalrana @panorama_studios @andpicturesin #blankthefilm #blank #karankapadia #sunnydeol #sunnydeolstyle #incinemastomorrow #1daytogo #behzadkhambata #movie #bollywood #bollywoodmovies #upcoming #staytuned #comingsoon‼️ #newmovies #akshaykumar #twinklekhanna #meerachopra #arjunkapoor #emraanhashmi #sonakshisinha #tigerjackieshroff #tigershroff

A post shared by Aman Deep Walia🌠🌟 (@aman_aadi_official) on May 2, 2019 at 2:24pm PDT

सनी देओल फिल्म में एटीएस चीफ एसएस दीवान के किरदार में है। हुस्ना (इशिता दत्ता) और रोहित (करणवीर शर्मा) भी इन्हीं की टीम का हिस्सा हैं।

फिल्म आपको थोड़ी धिमी लग सकती है। वही एक्टिंग की बात करें तो सभी ने अच्छा काम किया है। एडिटिंग, स्क्रीनप्ले और पावरफुल डायलॉग आपको बांधे रखने में कामयाब होंगे।

कहानी

हनीफ (करण कपाड़िया) के पिता की हत्या बड़े ही खूंखार तरीके से उसी के सामने हो जाती है। इससे हनीफ को गहरा सदमा लगता है और इसे वो भुला नहीं पाता और बड़ा होने पर भी उसे ये सब दिखता रहता है। जिस वजह से वह चैन से नहीं रह पाता। इसी दौरान उसे पुलिस और एंटी टेरेरिज्म स्क्वाड एटीएस से लड़ना पड़ता है।

यहीं से कहानी में कई ट्वीस्ट आते हैं। वहीं पता चलता है कि हनीफ के शरीर पर बम लगे है, जिसके तार और 24 लोगों के बम से जुड़े हैं। आतंकवादी मकसूद (जमील खान) जेहाद और जन्नत के नाम पर उनका इस्तेमाल कर रहा है और शहर में कई धमाके करना उसका मकसद है।

अब यह जानने के लिए कि हनीफ पड़का जाता है या नहीं और वो ये सह क्यों कर रहा है, आपको फिल्म देखनी होगी।फिल्म के आखिरी में आपको ये सभी जवाब मिल जाएंगे। 

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.