Friday, Aug 19, 2022
-->
honey singh wife shalini talwar broke down in delhi court

घरेलू हिंसा मामला: हनी सिंह की पत्नी शालिनी ने कोर्ट में रोते हुए कुछ यूं बयां किया दर्द

  • Updated on 8/30/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड के मशहूर सिंगर, रैपर, म्यूजिक कंपोजर यो यो हनी सिंह (honey singh) एक बार फिर कंट्रोवर्सी में फंसते नजर आ रहे हैं। हनी सिंह की पत्नी शालिनी तलवार शनिवार को तीस हजारी कोर्ट रूम में रो पड़ीं।शालिनी अपना दर्द बयां करते हुए रो पड़ी। कोर्ट रूम में शालिनी ने मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट तानिया सिंह से कहा कि उनके पास कोई अन्य रास्ता नहीं बचा था। 

आगे शालिनी ने कहा मैनें हनी सिंह को दस साल दिए, हमेशा उनके साथ खड़ी रहीं, लेकिन हनी सिंह ने मुझे अकेला छोड़ दिया। तलवार का दर्द सुनने के बाद जज ने उनसे पूछा कि वह अदालत से क्या चाहती हैं। जज ने उनसे पूछा, 'शादी किस पड़ाव पर है? प्यार कहां खो गया है?" कोर्ट ने आगे कहा कि बेहतर होगा कि मामले को सुलझा लिया जाए।

बता दें कि हनी सिंह की पत्नी शालिनी (honey singh wife) ने उनपर घरेलू हिंसा का आरोप लगाया था। शालिनी ने दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में हनी सिंह के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। उन्होंने 'द प्रोटेक्शन ऑफ वुमन फ्रॉम डोमेस्टिक वायलेंस एक्ट' के तहत याचिका दायर कराई है।

सुनवाई के दौरान हनी सिंह कोर्ट में पेश नहीं हुए। कोर्ट ने इसके लिए उन्हें फटकार लगाई और उनकी मेडिकल रिपोर्ट और इनकम टैक्स रिटर्न्स भी कोर्ट में जमा करवाने के आदेश दिए। कोर्ट ने कहा,”कोई भी कानून से ऊपर नहीं है”

हनी सिंह के वकील ने उनके अस्वस्थ होने का हवाला देते हुए व्यक्तिगत पेशी से छूट देने की भी मांग की है। हालांकि उन्होंने कोर्ट को कहा कि हनी सिंह सुनवाई की अगली तारीख पर जरूर पेश होंगे। हनी सिंह की अगली सुनवाई 3 सितंबर होगी।

हनी सिंह की पत्नी शालिनी ने ये भी दावा किया था कि कई सारी महिलाओं के साथ हनी सिंह के शारीरिक संबंध हैं। शालिनी का कहना है कि किसी भी कॉन्सर्ट या सिंगगिंग टूर पर अपने साथ ले जाने के लिए हनी सिंह उनके साथ बुरी तरह मारपीट भी करते हैं। इसके अलावा शानिली ने ये भी खुलासा किया है कि हनी सिंह ने उनके माता-पिता और छोटी बहन का भी शोषण किया है।बता दें कि दोनों ने साल 2011 में चोरी छुपके शादी रचाई थी। वहीं शादी के तीन साल बाद हनी सिंह ने शालिनी को फैंस के इंट्रोड्यूस कराया था। 

 

comments

.
.
.
.
.