Tuesday, May 24, 2022
-->
how Yami Gautam handles stress, the actress herself revealed

कई सफल फिल्म दे चुंकी यामी गौतम जानिए किस तरह करती हैं स्ट्रेस को हैंडल, एक्ट्रेस ने खुद किया खुलासा

  • Updated on 5/14/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटिल। यामी गौतम धर ने अपनी पिछली रिलीज़ सभी फिल्मों में अपने किरदार को अपना 100 पर्सेन्ट दिया है और जो जिसकी झलक स्क्रीन्स पर भी दिखीं है। फिर चाहे हम बात करें उनकी हालिया रिलीज 'अ थर्सडे' की या 'दसवीं' की, यामी की इन फिल्मों को क्रीटिक्स के साथ साथ दर्शकों का भी प्यार मिला है। कुल मिलाकर यामी गौतम ने अब तक के अपने करियर में विक्की डोनर से लेकर उरी और बाला जैसी कई सफल फिल्में दी है और आगे भी ये जारी रहेगा।

लेकिन क्या इस करियर की इस ऊचांई तक पहुंचना एक्ट्रेस के लिए आसान रहा हैं? शायद नहीं, क्योंकि ये सब हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और जिसके साथ एक हेटिक शेड्यूल को मैनेज करना होता है साथ ही कभी कभी चीजें जब अपने हिसाब से नही होती है तो उसके साथ स्ट्रेस और प्रेशर का भी सामना करना पड़ता है, जिससे आज की जेनेरेशन के लिए डील कर पाना थोड़ा सा मुश्किल भी हो जाता है। ऐसे में जब यामी से पूछा गया कि आखिर वो ये सब कैसे हैंडल करती है। तो एक्ट्रेस ने इसका बड़े प्यार से जवाब दिया।

यामी गौमत ने कहा, "स्ट्रेस और ये चीजें हर किसी की जिंदगी का हिस्सा होती हैं। यह एक सफर है जिसपर हम सभी को अपने रास्ते पर चलना है। लेकिन जब आप एक पब्लिक फिगर होते हैं तो सबसे बड़ा अंतर यह होता है कि आपके सुख और दुख के साथ बाकी चीजें भी सार्वजनिक होती हैं और यह सब कुछ होता है। इसलिए इस पहलू में दांव अलग होते हैं। आप अनुभव के साथ सीखते हैं, आप समय के साथ सीखते हैं, और मेरे लिए दिमागी रूप से ठीक रहना और शांत रहने का एक सबसे महत्वपूर्ण कारण यह है कि मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार से हूं, मेरा जन्म हिमाचल में हुआ, मैं चंडीगढ़ में पली-बड़ी हूं और मुंबई में काम करती हूं और अब यहां गोवा में बात कर रहीं हूं, सो इसलिए मैं काम को अपनी जिंदगी नहीं समझती हूं। काम मेरे जीवन का हिस्सा है, यह मेरी पूरी जिंदगी नहीं है। जीवन काम से कहीं ज्यादा है और मुझे लगता है कि बस यही है।

उन्होंने आगे कहां, "हम कभी-कभी चीजों को बहुत गंभीरता से लेते हैं। बेशक हमें कड़ी मेहनत करने और सभी सही काम करने की ज़रूरत है। लेकिन मेरे लिए वास्तव में जो काम किया है वह एक ऐसे प्वाइंट पर पहुंच गया है जहां अगर मेरी कोई भी फिल्म अच्छा करती है, तो बहुत अच्छा है और अगर कोई अच्छी नहीं भी करती तो भी मैं उसी स्टेट ऑफ माइंड में रहती हूं। तो मझु लगता है कि आपको एक बैलेंस स्टेट ऑफ माइन्ड को मेनटेन करने की जरूरत है और फिर देखिए वही काम करता है और अपको जमीन से जोड़कर रखता है। मेरे लिए यह मेरा परिवार है, वो मिडल क्लास वैल्यूज हैं जिन्होंने मुझे जमीन से जोड़े रखा और छोटे शहर की लड़की को मेरे दिल में जिंदा रखा...तो आइए हम एक ऐसा जीवन बनाएं जो इन सभी नंबर्स और उन सभी चीजों से परे हो....बेशक यह बहुत अच्छा है और इससे फर्क भी पड़ता है। इसलिए हम सब यहां इस कमरे में बैठे हैं लेकिन मुझे लगता है कि इसके अलावा भी और भी बहुत कुछ है।

यामी गौतम के यहां तक पहुंचने की वजह अब आपके समाने हैं। आपको बता दें, कि यामी के फ्यूचर प्रोजेक्ट्स भी काफी दिलचस्प हैं जिसमें अनिरुद्ध रॉय चौधरी की लॉस्ट, अक्षय कुमार और पंकज त्रिपाठी के साथ ओएमजी 2 के अलावा भी कुछ अनअनाउंस प्रोजेक्ट्स शामिल है।

comments

.
.
.
.
.