Sunday, Jun 26, 2022
-->
insaaf ye ek sawaal hai tribute song released for sushant singh rajput by family friend aljwnt

सुशांत की मौत के 2 महीने पूरे होने पर ये गाना रिलीज करके दी गई श्रद्धांजलि, भावुक कर देंगे बोल

  • Updated on 8/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को आज 2 महीने का समय पूरा हो चुका है। समय के साथ सुशांत की मौत की गुत्थी उलझती ही जा रही है। ऐसे में जहां एक तरफ सुशांत के परिवार के साथ-साथ उनके फैंस इस केस में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ सुशांत के एक फैमिली फ्रैंड ने उन्हें ट्रिब्यूट देने के लिए उनकी याद में एक गाना रिलीज किया है।

जी हां, सुशांत के फैमिली फ्रैंड निलोतपाल मृणाल ने सुशांत को श्रद्धांजलि देते हुए एक गाना बनाया है जिसका नाम है 'इंसाफ ये एक सवाल है'। इस गाने को यूट्यूब पर पोस्ट किया गया है।

सुशांत केस में बड़ा खुलासा, हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा ने उनके अकाउंट से निकाले थे लाखों रुपये

बेहद ही भावुक हैं गानें के बोल
सुशांत पर बनाए गए इस गाने के बोल बहुत ही भावुक हैं। ये गाना 4 मिनट 15 सेकेंड का है। इस गाने में सुशांत की तस्वीरों का इस्तेमाल किया गया है। इस गाने में पूछा जा रहा है कि क्या सुशांत को इंसाफ मिलेगा? इस गाने की शुरुआत के बोल कुछ इस तरह से है: 

एक टूटते सितारे से मांगी थी ये दुआ
काश एक ऐसा ही सितारा जमीन को दे दे वो खुदा...

अब बॉलीवुड सितारों ने भी की सुशांत केस में सीबीआई जांच की मांग
सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके चाहनेवालों ने #CBIForSSR नाम का एक मुहीम शुरु की है जिसके समर्थन में अब इंडस्ट्री के कई सितारों ने भी हिस्सा लिया है। जी हां, इस मुहीम में अब बॉलीवुड के कई सितारे सुशांत के सपोर्ट में आगे आए हैं और इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। कंगना रनौत के साथ-साथ अब बॉलीवुड से वरुण धवन, परिणीति चोपड़ा, सूरज पंचोली, मौनी रॉय और अमीषा पटेल भी सुशांत का समर्थन करते हुए नजर आ रहीं हैं। हाल ही में इन सेलेब्स ने अपने इंस्टाग्राम पर एक स्टोरी शेयर की जहां  #CBIforSushantSinghRajput के जरिए एक्टर को न्याय दिलाने की मांग की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.