Tuesday, Dec 07, 2021
-->
janhvi-kapoor-and-ishaan-khatter-dhadak-movie-review-in-hindi

Movie Review: लड़कपन का प्यार और संघर्ष की कहानी है जान्‍हवी-ईशान की 'धड़क'

  • Updated on 7/20/2018

स्टारकास्ट: जान्‍हवी कपूर, ईशान खट्टर,  आशुतोष राणा 
डायरेक्टरः शशांक खेतान
रेटिंग: 3 स्टार/5*

नई​ दिल्ली/टीम डिजिटल। दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी की बेटी जान्‍हवी कपूर और शाहिद कपूर के भाई  ईशान खट्टर की मोस्टअवेटेड फिल्म 'धड़क' आज सिनेमाघरो में रिलीज हो गई है। 'धड़क' से जान्‍हवी कपूर ने बॉलीवुड में डेब्यू किया है तो वहीं ईशान खट्टर की यह दूसरी फिल्म है। बता दें कि, जान्‍हवी और ईशान की यह फिल्म बॉक्स आॅफिस पर सुपर हिट रही मराठी फिल्म सैराट का हिंदी अडैप्टेशन है। इससे पहले इस फिल्म का पंजाबी और तमिल में भी रीमेक किया गया है जिसे दर्शकों ने काफी पसंद किया।

Exclusive interview : दिलों को धड़काएगी जान्हवी और ईशान की ‘धड़क’!

इस ​फिल्म का निर्देशन शशांक खेतान ने किया ​​है, इससे पहले वह बॉलीवुड को 'हम्पटी शर्मा की दुल्हनिया' और 'बद्रीनाथ की दुल्हनिया' जैसी हिट फिल्मेें दे चुके हैं। धड़क के जरिए शशांक ने यंगस्टर के दिलों को छुआ है।

Navodayatimes

कहानी
'धड़क' की कहानी राजस्‍थान के उदयपुर शहर में रह रहे पार्थवी (जान्हवी कपूर) और मधुकर (ईशान खट्टर) के प्रेम की कहानी है। फिल्म में जात-पात के भेदभाव को दिखाया गया है। इसके साथ ही जहां जान्हवी कपूर एक अमीर खानदान की हैं वहीं ईशान खट्टर मिडिल क्लास फैमिली से तालुक्क रखते हैं। पार्थवी के पिता ठाकुर रतन सिंह के रोल में आशुतोष राणा हैं। जो उदयपुर के लोकल पॉलिटिशियन हैं, तो वहीं मधुकर के पिता एक छोटा सा रेस्टोरेंट चलाते हैं। पार्थवी का किरदार एक बिंदास लड़की का है जो राजपरिवार के कायदे कानून और निजी जिंदगी में भाई और पिता ​के दखल को पसंद नहीं करती है। ईशान इस फिल्म में सीधे साधे लड़के के किरदार में हैं जो पार्थवी के प्यार में लट्टू हैं। दोनों को एक-दूसरे से प्यार हो जाता है और अपने प्यार के खातिर दोनों को कई तरह की मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। जिसकी वजह से फिल्म उदयपुर से होकर मुंबई, फिर कलकत्ता तक चली जाती है। 

Navodayatimes

फिल्म का पहला हाफ पार्थवी और मधुकर के प्यार के आसपास ही घूमता है। उनका छिप-छिप के मिलना, दोस्तों की मदद से​ गिफ्ट पहुंचाना, लड़की को मनाने के लिए लड़के का किसी भी हद त​क जाना, कुल मिलाकर ए​क नए जन्में प्यार की कहानी को दर्शाया गया है। इन दोनोें को देखकर जरूर आपको आपका पहला प्यार याद आ जाएगा। इंटरवल तक फिल्म काफी लंबी लगती है, ऐसा लगता है जैसे फिल्म की कहानी को जानबूझ कर खींचा गया है। ए​क वक्त ऐसा आता है जब आप पार्थवी और मधुकर के प्यार के किस्सों से बोर होने लगते हैं लेकिन फिल्म की कहानी आपको बांधे रखती है।

 'धड़क' देखकर मंत्रमुग्ध हुआ पूरा बॉलीवुड, सोशल मीडिया पर जान्‍हवी-ईशान को दिया ये मैसेज

Navodayatimes

इंटरवल के बाद फिल्म में कई ऐसे सीन आते हैं जो इसे इंटरेस्टिंग बनाते हैं। धड़क में घर से भागे हुए प्रेमियों के संघर्ष और मुश्किलों को बखूबी दर्शाया गया है। कहते हैं न कि 'जब आटे—दाल का भाव पता चलता है तो प्यार खिड़की से बाहर निकल जाता है' तो ऐसा ही कुछ आपको इस फिल्म में भी देखने को मिलेगा। अब आगे इनके प्यार का क्या अंजाम होता है यह जानने के लिए आपको थिएटर का रूख करना होगा। जान्‍हवी कपूर और ईशान खट्टर ने अपना-अपना रोल बखूबी निभाया है। हमेशा ​की तरह आशुतोष राणा ने अपनी एक्टिंग से फिल्म में जान डाल दी है। 

'धड़क' को लेकर एक्सपर्टस का मानना, पहले दिन कर सकती है इतने करोड़ का बिजनेस

Navodayatimes

क्यों देखें
फिल्म में प्यार के बीच आने वाले जाती, धर्म और भेदभाव को बखूबी दिखाया गया है। कॉलेज का पहला प्यार और प्यार को पाने के लिए किया गया संघर्ष देखने लायक है। ईशान और जान्हवी की केमिस्ट्री काफी अच्छी तरह से फिल्म में दिखाई गई है। अगर आप एक्शन और थ्रिलर फिल्मों से बोर हो चुके हैं तो यह फिल्म आपके लिए ही है। यह फिल्म हर उम्र के दर्शकों को खुद से जोड़ने में कामयाब होती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.