Thursday, Dec 02, 2021
-->
kangana tweeted in the case of conversion of wajid khan wife anjnst

वाजिद खान की पत्नी के धर्मांतरण मामले में कंगना ने किया ट्वीट, PMO से पूछा ये सवाल

  • Updated on 11/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिवंगत संगीतकार वाजिद खान (Wajid Khan) की पत्नी कमलरुखखान ने अपने ससुराल वालों पर धर्म परिवर्तन कराने का गंभीर आरोप लगाए हैं। कमलरुखखान के आरोपों के बीच इस मामले में बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (kangana ranaut) ने भी उनका समर्थन किया है।

पारसी को लेकर कहा ये
 कंगना ने ट्वीट किया कि पारसी इस राष्ट्र में वास्तविक अल्पसंख्यक हैं वे शुरुआत से ही सीखने के लिए यहां पर आए थे लेकिन फिर बाद में धीरे- धीरे उन्हें भारत माता से प्यार हो गया। पारसी लोगों की आबादी भले कम हो लेकिन उनका राष्ट्र के प्रति प्यार और अर्थव्यवस्था में काफी योगदान है।

अगले साल विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं रजनीकांत, आज होगा यह बड़ा फैसला


 
कमलरुखखान के समर्थन में उतरी कंगना
 कंगना ने अपने अगले ट्वीट में पीएमओ को टैग करते हुए एक सवाल पूछा कि हमारा राष्ट्र पारसी लोगों की रक्षा कैसे कर रहा है?वाजिद खान मेरे दोस्त थे और वो मेरे दोस्त की विधवा है इस वक्त उसपर अत्याचार हो रहा है। वो एक पारसी है इसलिए उसे धर्मपरिवर्तन को लेकर परेशान किया जा रहा है। 


PMO से पूछा ये सवाल
 मैं पीएमओ इंडिया से पूछना चाहती हूं कि जो अल्पसंख्यक ड्रामा, सुर्खियां बटोरने, दंगे और धर्मांतरण की सहानुभूति नहीं रखते, हम उनकी रक्षा कैसे कर रहे हैं?कंगना ने आगे लिखा कि भारत को एक माता की तरह देखा जाता है। ऐसे में जो बच्चा अधिक नाटक करता है वो अधिक ध्यान खीचता है और जिसे अधिक ध्यान की जरूरत होती है वो चुप चाप रह जाता है।

क्या है मामला
दिवंगत संगीतकार वाजिद खान की पत्नी कमलरुख खान ने दावा किया है कि इस्लाम स्वीकार करने से इंकार करने पर उनके सास-ससुर ने उन्हें‘‘भयभीत करने की रणनीति‘’अपनाते हुए‘‘अलग-थलग‘’करने की कोशिश की। संगीतकार साजिद-वाजिद की जोड़ी के वाजिद खान का जून में निधन हो गया था। इंस्टाग्राम के असत्यापित खाते के जरिए अपना अनुभव साझा करते हुए कमलरुख ने कहा कि वह पारसी हैं और उन्होंने‘‘दबंग‘’फिल्म के संगीतकार के साथ विशेष विवाह अधिनियम के तहत शादी की थी। सोशल मीडिया पर उपलब्ध विवरण के मुताबिक, कमलरुख मनोचिकित्सक हैं। 

'कपिल शर्मा शो' से हो सकता है भारती का पत्ता साफ! सेट से सामने आया सच

सोशल मीडिया पर शेयर की पोस्ट
कमलरुख द्वारा शुक्रवार को जारी एक लंबी पोस्ट में कहा गया कि वह एक ऐसे परिवार में पली-बढ़ीं, जहां शिक्षा, विचार की स्वतंत्रता और‘‘लोकतांत्रिक‘’मूल्यों को बढ़ावा दिया गया था लेकिन यह सब उनके पति के परिवार से मेल नहीं खाता था। कमलरुख ने दावा किया,‘’उन्हें एक शिक्षित और स्वतंत्र विचार वाली महिला स्वीकार्य नहीं थी और धर्मांतरण के दबाव का विरोध करना पाप जैसा था। मैंने हमेशा सभी उत्सवों का सम्मान किया, भागीदारी की और उन्हें मनाया।

उन्होंने आगे  कहा,‘’लेकिन, धर्मांतरण से इंकार करना, मेरे और मेरे पति के बीच दूरियां बढऩे का कारण बनने लगा और पति-पत्नी के संबंधों के तौर पर इसे बर्बाद करने के लिए जहर भरा गया।‘‘ सोलह वर्षीय बेटी अर्शी और नौ वर्षीय बेटे रेहान की मां कमलरुख ने कहा,‘’मैं अपने वैवाहिक जीवन के दौरान हर समय इस भयानक सोच से हर स्तर पर लड़ती रही। इसका परिणाम यह हुआ कि मुझे मेरे पति के परिवार से अलग-थलग किया गया और धर्मांतरण की साजिश के तहत तलाक के लिए अदालत तक ले जाया गया।‘‘ 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.