Tuesday, Apr 13, 2021
-->
katrina-and-gulshan-grover-kissing-scene-sosnnt

B'DAY: जब कैटरीना ने कमरा बंद कर इस सीनियर एक्टर को किया था दो घंटे तक किस

  • Updated on 7/16/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड की सुरैया कैटरीना कैफ (katrina kaif birthday) आज पूरे 37 साल की हो चुकि हैं। भारत, राजनीति, धूम 3 जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम कर चुकि कैटरीना ने अपनी कड़ी मेहनत से काफी कम समय में इंडस्ट्री में एक अलग पहचान बना ली है आज की तारीख में बॉलावुड में उनके नाम का डंका बजता है और आज उनका नाम देश की टॅाप एक्ट्रेसेस कि लिस्ट में शुमार है।

फिर चाहे बात उनकी खूबसूरती की करे या उनकी एक्टिंग की, लोग उनकी अदाओं के दीवाने हैं। लेकिन यहां तक पहुंचना उनके लिए इतना आसान नहीं था। 

9 साल पहले रिलीज हुई थी ‘जिन्दगी ना मिलेगी दोबारा’, जोया अख्तर ने शेयर की BTS तस्वीरेंइस बात का कै

इस बात का कैटरीना को आज भी है पछतावा
चलिए आज उनके जन्मदिन के खास मौके पर आपको बताते हैं कि अपने करियर के शुरुआती दौर में कैटरीना ने एक ऐसा काम कर दिया था जिसे लेकर उन्हें आज भी पछतावा होता है। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

IIFA time 💃🏻❤️ @iifa

A post shared by Katrina Kaif (@katrinakaif) on Mar 4, 2020 at 1:53am PST

जी हां, साल 2003 में फिल्म बूम से कैटरीना ने बॉलीवुड में एंट्री की थी। फिल्म में उनके साथ अमिताभ बच्चन और गुलशन ग्रोवर जैसे दिग्गज कलाकार भी नजर आए थे, बावजूद इसके कैटरीना इस फिल्म को अपनी सबसे बड़ी गलती मानती हैं।

कैटरीना कैफ-नाना पाटेकर ने भी की सरकार की मदद, दान में दिए इतने पैसे

कमरा बंद कर इस एक्टर को किया था किस
दरअसल, मूवी में कैटरीना और गुलशन ग्रोवर का एक किसिंग सीन दिखाया गया है जिसे लेकर कैटरीना को उस समय काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। इस सीन को शूट करते वक्त अमिताभ बच्चन भी वहीं मौजूद थे जिस वजह से कैटरीना काफी नर्वस हो गई थीं। ऐसे में सीन को पर्फेक्ट बनाने के लिए कैटरीना ने उस सीन की जमकर प्रैक्टिस की। जी हां, कैटरीना ने लगातार दो घंटे तक रिहर्सल किया और अजीब बात यह है कि कैटरीना ने कमरा बंद करके गुलशन के साथ इस सीन की 2 घंटे तक प्रैक्टिस की थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.