Tuesday, Nov 29, 2022
-->
kumar-sanu-birthday-special

B'day spl: कुमार सानू को स्ट्रगल के दिनों में गुंडों के सामने गाना पड़ा था सॉन्ग

  • Updated on 9/21/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड के दिग्गज गायक कुमार सानू (Kumar sanu) ने इंडस्ट्री में कई रिकॉर्ड बनाए हैं। उनके गाए गाने दिलों को छूने वाले होते हैं। उनके गीत जब भी कानों में पड़ते हैं तो खुद को मदहोश होने से फिर कोई नहीं रोक पाता, ऐसा लगता है कि उनकी सुरीली आवाज बस यूहीं सुनाई देती रहे और हम उनके गीतों में खोए रहें। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब ये शोहरत ये रुतबा कुछ नहीं था तब उस वक्त कुमार सानू को गुंडों के सामने भी गीत गाने पड़े थे।

अलका याग्निक, उदित नारायण और कुमार सानु को FWICE ने दी हिदायत, PAK के साथ न रखें संबंध

कुमार सानू ने बयां की स्ट्रगल की दास्तान
अपने एक इंटरव्यू के दौरान कुमार सानू ने इस बात का खुलास किया था। उन्होंने बताया कि उनके स्ट्रगलिंग के वक्त वो किस तरह अपना गुजारा किया करते थे। अपने जीवन का ये बेहद ही दिलचस्प किस्सा कुमार सानू ने फैंस के साथ शेयर किया और उसे बताते हुए वो खुद इसे महसूस करने लगे।

पहली बार रानू मंडल पर बोले कुमार सानू- अच्छा ऑफर मिला तो साथ में करेंगे काम

रेलवे ट्रैक पर गुंडों के सामने गाया था गाना
इस अनुभव के बारे में बात करते हुए कुमार सानू ने बताया, "मैं जब गाना गाया करता था उसके शुरुआती दिनों में कुछ माफिया गैंग ने मुझे रेलवे ट्रैक पर गाना गाने के लिए फोर्स किया। उनके साथ वहां और भी कई लोग रहते थे। मैं उनके सामने डर-डर के गाना गाता था। इसी के साथ वो लोग मुझसे डांस भी करवाते थे"।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Wishing you all a peaceful evening!❤️

A post shared by Kumar Sanu (@kumarsanuofficial) on Jun 12, 2019 at 7:44am PDT

अफ्रीका में कुमार सानू, अल्का यागनिक और उदित नारायण की तिकड़ी ने मचाया धमाल

डर-डर के गाते थे गाना
जहां मैं डर-डर के उनके सामने परफॉर्म किया करता था वहीं मुझे ये भी डर लगा रहता था कि उन्हें मेरी परफॉर्मेंस पसंद आ जाए। किस्मत से उन्हें मेरी परफॉर्मेंस पसंद आती थी। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Eid Mubarak.

A post shared by Kumar Sanu (@kumarsanuofficial) on Jun 5, 2019 at 2:58am PDT

सोशल मीडिया पर मिला रानू मंडल का बेटा! गाने में उनसे भी एक कदम आगे

पिता ने मारा था इसके लिए थप्पड़
सानू ने आगे कहा, "मेरे गुंडों के सामने गाना गाने की बात जब मेरे पिता को पता लगी तो उन्होंने मुझे एक जोरदार तमाचा जड़ दिया। मेरे पिता थोड़े पुराने ख्यालातों के हैं इस लिए मेरा इस तरह गाना उन्हें खास पसंद नहीं आया"।

"उस समय मेरे पिता ने मुझे समझाया कि इस तरह से किसी गुंडे के सामने गाना गाना सही बात नहीं है और न ही ये सही तरीका है अपने हुनर को किसी के सामने रखने का"।
 

comments

.
.
.
.
.