Tuesday, Oct 04, 2022
-->
late-lata-mangeshkar-unknown-facts-sosnnt

जब Lata Mangeshkar के मुस्लिमों संग ना गाने की उड़ी थी अफवाह, दिया था मुंह तोड़ जवाब

  • Updated on 2/6/2022

                      जिनके ऊपर मां सरस्वती की कृपा हमेशा रहती है, दुनियां उन्हें भारत कोकिला
                                                      लता मंगेशकर कहती है... 

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अपनी सुरीली आवाज से करोड़ों दिलों पर राज करने वाली सुरों की मल्लिकाला लता मंगेशवर अब हमेशा ने लिए खामोश हो गई हैं। 92 की उम्र में उन्होंने मुंबई के अस्पताल में अंतिम सांसे लीं। वह पिछले लंबे समय से बीमार थीं। लता मंगेशवर भारत की सबसे लोकप्रिय और आदरणीय गायिका हैं जिनका 6 दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा पड़ा है। भारत रत्न से सम्मानित लता मंगेशकर ने अपने करियर में 20 भाषाओं करीब 30,000 गानों में अपनी आवाज दी है। उनकी सुरीली आवाज के करोंड़ो दीवाने थे, हैं और हमेशा रहेंगे। उनकी आवाज सुनकर कभी किसी की आंखों में आंसू आए, तो कभी सीमा पर खड़े जवानों को सहारा मिला।

जब Lata Mangeshkar के मुस्लिमों संग ना गाने की उड़ी थी अफवाह
तो आइए जानते लता मंगेशवर के कुछ अनसुने किस्से जिसके बारे में काफी लोगों को पता है। ये तो सभी जानते हैं कि लता दीदी ने अपने सफल करियर में कई दिग्गज कलाकारों के साथ कमा किया था। लेकिन एक बार उन्हें लेकर एक ऐसी अफवाह फैली जिसे लेकर चारों तरफ तहलका मच गया। खबर यह थी कि लता मुसलमानों के साथ काम नहीं करना चाहती।

दरअसस, 60 के दशक में लता मंगेशकर को उस समय के मशहूर सिंगर तलत महमूद के साथ एक गाना गाना था। लेकिन फिर कुछ वजहों से उस गाने की रिकॉर्डिंग नहीं हो पाई। जिसके बाद खबरें आने लगीं कि लता किसी मुसलमानों के साथ काम नहीं चाहती, इस वजह से उन्होंने इस ऑफर को मना कर दिया। वहीं तलत महमूद ने भी इस बात पर यकीन कर लिया। 

Lata Mangeshkar and Talat Mahmood Songs Lyrics ~ Hindi Songs Lyrics

लेकिन बाद में जब लता मंगेशकर तलत महमूद से मिली तो उन्होंने इस यह बड़ी गलतफहमी को दूर किया। सूत्रों के अनुसार, लता दीदी ने उनसे कहा कि  "आपने इस तरह की घटिया कहानी पर कैसे यकीन कर लिया? आप ये नहीं जानते कि रफी साहब, नौशाद साहब भी मुसलमान हैं? मैं हमेशा उनके साथ काम करती हूं। मैं यूसुफ (दिलीप कुमार) को राखी बांधती हूं। आप ये भी भूल गए कि मैंने अमन अली और अमानत खान साहब की शागिर्द के तौर पर सीखना शुरू किया था। वो दोनों भी मुसलमान थे।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.