Friday, Feb 03, 2023
-->

Review: 'वेडिंग एनिवर्सरी' में नाना पाटेकर का रोमांटिक अंदाज करेगा निराश

  • Updated on 2/24/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। शेखर एस. झा की 'वेडिंग एनिवर्सरी' रोमांटिक फिल्म है। गोवा की एक रात की कहानी इस फिल्म में दिखाई गई है। लेकिन नाना पाटेकर के संवादों के अलावा दूर दूर तक रोमांस दिखाई नहीं पड़ता है। पत्नी का
केक शॉप में जाना, स्पा के लिए जाना, अलग- अलग तरह के लोगों से मिलना, सब कुछ बनावटी सा लगता है। फिल्म की एक ही जान है वो हैं नाना पाटेकर की मौजूदगी और उनके डायलॉग्स। 

Film Review: दमदार अभिनय और बेहतरीन कहानी का मेल है रंगून

फिल्म का डायरेक्शन और लोकेशन ठीक ठाक है। नाना पाटेकर की बहुत ही उम्दा एक्टिंग है और खास तौर पर जब वो डायलॉग्स बोलते हैं तो कोई कोई डायलॉग आपको सोचने पर मजबूर कर देता है। 

गोविंदा के कारण हुई शूटिंग में 5 घंटे की देरी!

कहानी
फिल्म की नायिका का नाम कहानी (माही गिल) है। इंवेस्टमेंट बैंकर निर्भय उसका पति (प्रियांशु चटर्जी) है। दोनों मुंबई में रहते हैं।

कहानी अपनी वेडिंग एनिवर्सरी के लिए खास तौर पर गोवा आई हुई है और बस अपने पति निर्भय के भी आने का इंतजार करती रहती है। प्रियांशु मुंबई से फ्लाइट पकड़ने में लेट हो रहा होता है और उस रात नहीं पहुंच पाता।

कहानी नाराज हो जाती है। मूड ठीक करने के लिए वह अपने पसंदीदा लेखक नागार्जुन की लिखी कहानी प्रतिबिंब पढ़ने लग जाती है। उसकी आंख लग जाती है। अचानक उसकी नींद खुलती है। देर रात नागार्जुन (नाना पाटेकर) दरवाजे के बाहर खड़ा मिलता है। जो इस पूरी रात में कहानी को जीवन और उससे जुड़ी सच्चाइयों से अवगत कराता है। गोवा की सैर कराता है, अलग अलग तरह के लोगों के साथ मिलता है। आखिरकार फिल्म के अंत में निर्भय मुंबई से गोवा पहुंच जाता है और अपनी पत्नी के साथ वेडिंग एनिवर्सरी मनाता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.