Friday, Sep 30, 2022
-->
ranbir kapoor shamshera movie review

Shamshera Review: डकैत बन रणबीर कपूर ने लूटी महफिल, नेगेटिव रोल में छाए संजय दत्त

  • Updated on 7/22/2022
  • Author : Jyotsna Rawat

फिल्म: शमशेरा (shamshera)
निर्देशक : करण मल्होत्रा (karan malhotra)
एक्टर: रणबीर कपूर (Ranbir Kapoor), संजय दत्त (Sanjay Dutt), वाणी कपूर (Vaani Kapoor), सौरभ शुक्ला (Saurabh Shukla), इरावती हर्षे, रोनित रॉय (Ronit Roy)
रेटिंग : 4/5

Shamshera Review : रणबीर कपूर के फैंस उन्हें चार साल बाद पर्दे पर देखने के लिए बेकरार हैं। निर्देशक करण मल्होत्रा की फिल्म 'शमशेरा' एक डकैत ड्रामा फिल्म है। रणबीर कपूर, वाणी कपूर और संजय दत्त स्टारर यह फिल्म आज सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। फिल्म में रणबीर कपूर का डबल रोल है। ये फिल्म डकैती और पिता की मौत का बदला लेने की दिलचस्प कहानी है जिसे गजब के VFX और एक्शन सीन के साथ पेश किया गया है। 

फिल्म में रणबीर के डबल रोल हैं और दोनों ही आपको खूब पसंद आएंगे, उन्होंने पिता और बेटे का किरदार निभाया है। संजय दत्त जहां एक पुलिसवाले शुद्ध सिंह के किरदार में हैं तो वहीं वाणी कपूर ने डांसर का रोल निभाया है। 

कहानी 
यह कहानी खमेरन और काजा नाम की जाति के लोगों पर आधारित है, जिसमें आप मां बेटे की प्यारी कहानी, पति- पत्नी का रोमांस और अपनी जाति के लोगों के लिए लड़ाई, सबकुछ देखेंगे। 18वीं शताब्दी में राजपूतों के दौर में खमेरन जाति के लोग आसरा लेने की तलाश में काजा पहुंचते हैं लेकिन वहां के ऊंची जाति के लोग उन्हें स्वीकार नहीं करते।

तब उनका सरदार शमशेरा (Ranbir Kapoor) अपने साथियों के साथ मिल कर काजा में लूटपाट शुरू कर देता है। काजा के लोगों ने अंग्रेजों के दरबार में खमेरन के खिलाफ गुहार लगाई। तब सरकार ने दरोगा शुद्ध सिंह (Sanjay Dutt) को भेजा, जो शमशेरा और उसके साथियों को धोखे से काजा के किले में गुलाम बना लेता है और उन पर बहुत अत्याचार करता है।

यहीं से कहानी में ट्विस्ट आता है। अब आजादी पाने के लिए खमेरन के सरदार शमशेरा को इस हद तक लड़ाई लड़नी पढ़ती है कि वो अपनी जान गवा देता है। उसके बाद कहानी 25 साल बाद से फिर शुरु होती है, जहां नया शमशेरा आपका दिल जीत लेगा। अब शमशेरा का बेटा बल्ली (Ranbir Kapoor) अपने बाप का अधूरा सपना पूरा करने चल पड़ता है। बल्ली खूब डकैती करता है और हर बार सबमें दहशत फैला देता है अब उसका सामना शुद्ध सिंह दरोगा से होता है। क्या बल्ली अंग्रेजों और दरोगा से जीत पाएगा और क्या वो अपने बाप का खमेरन की आजादी का सपना पूरा कर पाएगा? ये सब जानने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना पड़ेगा।  

एक्टिंग
फिल्म के सभी स्टारकास्ट ने कमाल का काम किया है। शमशेरा के किरदार में रणबीर कपूर को देख आप सीटी बजाए बिना रह नहीं पाएंगे। वहीं उनके डबल रोल ने भी खूब मजे दिए हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि ये फिल्म रणबीर के करियर की बेस्ट परफॉर्मेंसेस में से एक है। 

वहीं हर बार की तरह इस बार भी विलेन के रोल में संजय दत्त ने क्या कमाल का काम किया है। वाकई में विलेन हो तो संजय दत्त जैसा.... संजय दत्त अपने किरदार में पूरी तरह से डूबे नजर आ रहे हैं। वाणी कपूर ने भी अपने किरदार के साथ न्याय किया है। सौरभ शुक्ला और रोनित रॉय की बात करें को जितना भी स्क्रीन टाइम उन्हें मिला, उन्होंने उसका भरपूर फायदा उठाया।

डायरेक्शन 

फिल्म देखने के बाद तो एक ही चीज मुंह से निकलेगी.. वाह मजा आ गया! गजब का डायरेक्टर है! जी हां, करण मल्होत्रा ने 'शमशेरा' से पूरे बॉलीवुड की काया पलट दी है। भरपूर एक्शन के साथ-साथ फिल्म में शानदाार डायलॉगबाजी हुई है। करण मल्होत्रा ने फिल्म के सभी स्टारकास्ट को एक अलग तरीके से ढाला है। वहीं शानदार विजुअल्स ने तो फिल्म में जान फूंक दी है। जिस तरीके से फिल्म में विजुल्स को परोसा गया है, वाकई में वो काबिले तारीफ है। कुल मिलाकर शमशेरा पैसा वसूल है।

comments

.
.
.
.
.