Wednesday, Jan 19, 2022
-->
ranveer shorey shares his story while speaking on nepotism tells he had to leave country aljwnt

रणवीर शौरी ने बताया बॉलीवुड का काला सच, कहा- इन्हीं लोगों ने मुझे देश छोड़ने पर किया था मजबूर!

  • Updated on 7/23/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में उठी नेपोटिज्म पर बहस लगातार जोर पकड़ रही है। बॉलीवुड के कई सितारे इस बहस में आगे आकर इस ग्लैमरस दुनिया का काला सच बयां कर रहे हैं। अब इन्हीं सितारों में एक और नाम शामिल हो गया है और वो है अभिनेता रणवीर शौरी का।

जी हां, अब रणवीर शौरी ने ट्विटर पर ट्वीट करके अपने संघर्ष की कहानी बताते हुए बॉलीवुड से जुड़े कई काले राज पर से पर्दा उठाया है। रणवीर ने बताया कि किस तरह से उन्हें बदनाम करने की कोशिश की गई और किस तरह उन्हें ये देश तक छोड़ने पर मजबूर किया गया।

मुझे भी इन्हीं लोगों ने किया था परेशान : रणवीर शौरी
ट्विटर पर ट्वीट करते हुए रणवीर ने लिखा कि 'मैं किसी का नाम नहीं ले सकता क्योंकि मेरे पास इस मिलीभगत को साबित करने के लिए कोई भी सबूत नहीं है। मैं इस मुद्दे पर इसलिए बात कर रहा हूं क्योंकि मैं भी इसी प्रोफेशनल और सोशल आइसोलेशन से गुजर चुका हूं। साल 2003-2005 तक मेरे बारे में भी बहुत सी गलत बातें बोलीं गईं, मीडिया में झूठी बातें फैलाई गईं और मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया। ये सब उन्हीं लोगों ने किया जिनके नाम अब सामने आ रहे हैं।'

मजबूर होकर रणवीर ने छोड़ दिया था देश
उस वक्त मैं जिस निराशा से गुजर रहा था जो मुझे तोड़ने के लिए काफी थी। लेकिन मैं अपने परिवार और कुछ चुनिंदा दोस्तों का शुक्रगुजार हूं जिन्होंने उस वक्त मुझे संभाला और मैं बच गया। उस वक्त मेरे खिलाफ इतना खराब और घातक माहौल बना दिया गया था कि मजबूर होकर मुझे देश छोड़ना पड़ा था। ये कोई इत्तेफाक नहीं है बल्कि सब जानबूझकर किया गया था।

फैन ने कहा- आदमियों से बेहतर तो कंगना है!
हाल ही में रणवीर के एक फैन ने ट्विटर पर उन्हें टैग करते हुए रिक्वेस्ट की थी कि वो उनके नाम बताएं और खुलकर उन्हें शर्मिंदा करें जिन्होंने उन्हें परेशान किया था।

फैन ने लिखा था कि 'कंगना आदमियों से बेहतर हैं जो खुलकर सामने तो आ रहीं हैं। अगर आप ऐसा नहीं कर सकते तो कृपया दो नावों में सवारी न करें। मैं आपसे अनुरोध करता हूं या तो आप कंगना की तरह सामने आकर उन लोगों के नाम बताएं या बिल्कुल चुप हो जाएं। मैं एक इंसान के तौर पर आपको बहुत पसंद करता हूं और आपकी इज्जत करता हूं लेकिन एक आदमी होने के नाते तो ऐसा करें।'

 

comments

.
.
.
.
.