Sunday, Mar 07, 2021
-->
sharmila-tagore-birthday-special-some-common-facts-dharmendra-and-sharmila-jsrwnt

B'day Spl: एक ही दिन होता है धर्मेंद्र और शर्मिला टैगोर का जन्मदिन, 8 नंबर से दोनों का है खास नाता

  • Updated on 12/7/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अपने जमाने की बोल्ड और खूबसूरत अभिनेत्री शर्मिला टैगोर (sharmila tagore) 76 साल की हो गईं हैं। शर्मिला की कातिलाना हंसी के लाखों दीवाने हुआ करते थे। शर्मिला पहली इंडियन एक्ट्रेस थीं, जिन्होंने फिल्मफेयर मैग्जीन के कवर पेज के लिए बिकिनी पहनी थी। आज इस उम्र में भी उनका ग्रेस और चार्म बरकरार है। हैदराबाद में जन्मीं शर्मिला के पिता गितेन्द्रनाथ टैगोर 'टैगोर एल्गिन मिल्स' के ब्रिटिश इंडिया कंपनी के मालिक थे। फिल्म 'कश्मीर की कली' ने शर्मिला की जिंदगी बदल दी थी। 

इंडस्ट्री को कई शानदार फिल्में देने वाली शर्मिला के साथ ही बॉलीवुड के सदाबहार एक्टर धर्मेंद्र का भी जन्मदिन होता है। इत्तेफाक की बात ये है कि दोनों की एक्टर्स हिंदी सिनेमा की जान हैं। दोनों की जोड़ी को खूब पसंद किया जाता था। खास बात ये है कि इन दोनों दिग्गज कलाकारों ने साथ में कई एतिहासिक फिल्में की। दोनों का 8 नंबर से एक खास नाता है। 8 दिसंबर को दोनों का जन्मदिन होता है और दोनो ने साथ में 8 सुपरहिट फिल्में की। वहीं धर्मेंद्र 85 साल के हो गए हैं। धर्मेंद्र और शर्मिला की सबसे यादगार फिल्म 'सत्यकाम','अनुपमा', 'देवर', 'मेरे हमदम मेरे दोस्त', 'जासूसी', 'यकीन', 'चुपके-चुपके' और 'सनी' हैं।

सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे भिड़े अनिल कपूर और अनुराग कश्यप

'एन इवनिंग इन पेरिस' जैसी सुपरहिट फिल्म में काम करने वाली शर्मिला ने अपने प्यार के लिए धर्म परिवर्तन किया था।  शर्मिला ने पटौदी के नवाब और भारतीय क्रिकेटर मंसूर अली खान पटौदी से 27 दिसंबर 1969 को निकाह किया था।  शर्मिला ने इस्लाम धर्म अपनाकर अपना नाम बेगम आयशा सुल्ताना खान रख लिया था।

सुशांत को न्याय ना मिल पाने पर नाराज हैं शेखर सुमन, कहा- 'नहीं मनाऊंगा जन्मदिन...'

शर्मिला को जब पता चला था कि उनकी सास उनसे मिलने आ रही है, तो वे बहुत परेशान हो गईं थी। शर्मिला को इस बात की चिंता थी कि अगर मंसूर की मां ने उनके बिकिनी वाले पोस्टर देख लिए तो वे शादी से मना कर देंगी। इसके बाद शर्मिला ने फिल्म के प्रोड्यूसर को फोन किया और मुंबई की हर जगह से अपने बिकिनी वाले पोस्टर हटवाने को बोल दिया। 

शर्मिला ने अपने फिल्मी जीवन की शुरुआत सौमित्र चटर्जी के साथ की और कई फिल्मों में काम किया। दोनों ने अपने करियर की शुरुआत साल 1959 में फिल्म निर्माता सत्यजीत रे की रिलीज हुई फिल्म ‘अपुर संसार’से की थी। शर्मिला को उनके शानदार अभिनय के लिए दो बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और दो बार फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। भारतीय सिनेमा में अहम योगदान देने के अलावा वह सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं।

comments

.
.
.
.
.