Thursday, Feb 09, 2023
-->
sona-mohapatra-and-divyanka-tripathi-slams-mukesh-khanna-sosnnt

औरतों को नींचा दिखाने पर इन बड़े सेलेब्स ने मुकेश खन्ना की लगाई क्लास

  • Updated on 11/2/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अभिनेता मुकेश खन्ना (Mukesh khanna) इन दिनों अपने बेबाक बयानों को लेकर लगातार खुर्खियों में बने हुए हैं। हाल ही में उन्होंने MeToo मूवमेंट पर अपनी राय रखते हुए कहा था कि दिक्कत तब शुरू हुई जब महिलाओं ने पुरुषों की बराबरी करने की ठानी और उनके कंधे से कंधा मिलाकर चलने लगीं।' 

मुकेश खन्ना ने metoo को लेकर कहा- औरत है सारी समस्या की जड़...

औरतों को नींचा दिखाने पर इन बड़े सेलेब्स ने मुकेश खन्ना की लगाई क्लास
जिसके बाद से सोशल मीडिया पर कई लोगों ने उनके इस विवादित बयान पर अपना गुस्सा जाहिर किया है। ऐसे में अब कई सेलिब्रिटी भी 'भीष्म पितामह' का किरदार निभा चुके मुकेश खन्ना के बयान को लेकर उन पर निशाना साधा है। सोना मोहापात्रा ने कहा- 'हां, इन महाशय के मुताबिक कोई भी पुरुष कभी घर में औरतों या बच्चों का शोषण नहीं करते। इन्हें नजरंदाज नहीं किया जा सकता, ये मंदबुद्धि हैं। दुख की बात तो ये है कि हमारे इर्द-गिर्द ऐसी पुरानी सोच वाले लोग हर जगह हैं। बदलाव धीमा है, लेकिन यह आ रहा है।' 

इसके अलावा टीवी एक्ट्रेस ने भी मुकेश खन्ना के इस बयान पर कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि 'जब इतनी बड़ी और सम्मानित जगहों पर बैठे लोग ऐसे बयान देते हैं तो बेहद शर्मिंदगी महसूस होती है। औरतों के प्रति ये नजरिया किसी पुरानी घटना का नतीजा हो सकता है। मुकेश जी के इस बयान पर, पूरे सम्मान के साथ मैं उनकी निंदा करती हूं। ये बयान एकदम पुराने ख्यालों वाला है और पीछे ले जाने वाला है।'

अपनी फिल्म को लेकर अक्षय ने मानी मुकेश खन्ना की बात, शक्तिमान ने दिया ये रिएक्शन

मुकेश खन्ना ने metoo को लेकर कहा- औरत है सारी समस्या की जड़...
बता दें कि अभिनेता ने कहा था कि 'मीटू जैसे मुद्दों को जन्म देने की जिम्मेदार सिर्फ महिलाएं ही हैं। मुकेश का कहना है कि दिक्कत तब शुरू हुई जब महिलाओं ने पुरुषों की बराबरी करने की ठानी और उनके कंधे से कंधा मिलाकर चलने लगीं।'

मकेश आगे ये भी कहते हैं कि 'मीटू जैसे मुद्दे तब उठना शुरू हुए हैं जब महिलाओं ने रसोई घर छोड़ना शुरू कर दिया। घर को छोड़कर उन्होंने बाहर जाकर काम करना शुरू कर दिया। मुकेश का मानना है कि औरत की रचना अलग होती है और मर्द की अलग होती है। मुकेश कहते हैं, 'औरत का काम है घर संभालना, जो मैं कभी कभी बोल भी जाता हूं। परेशानी कहां से शुरू हुई है मीटू की जब औरतों ने भी काम करना शुरू कर दिया। अब औरत मर्द के साथ कंधे से कंधा मिलाने की बात करती हैं।' 

comments

.
.
.
.
.