Thursday, Oct 28, 2021
-->
sonu sood launches his book named i am no messiah sosnnt

खुद को 'मसीहा' नहीं मानते सोनू सूद, अपनी इस किताब में शेयर की लॉकडाउन जर्नी

  • Updated on 11/12/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (sonu sood) ने लॉकडाउन (lockdown) के वक्त प्रवासी मजदूरों के साथ-साथ हर उस जरूरतमंद की सहायता की है जिन्होंने उसने मदद मांगी। उस दौरान वे एकलौते अभिनेता थे जो ग्राउंड पर उतर कर लोगों की मदद के लिए आगे आए थे और प्रवासियों को उनके घर तक भी पहुंचाया। वहीं सोनू अभी भी लोगों की सहायता करने से पीछे नहीं हट रहे हैं। ऐसे में पूरे देश भर से लोग उन्हें दुआएं दे रहे हैं। लोगों ने तो उन्हें मसीहा का भी टैग दिया है। 

सोनू सूद की वजह से आज अपने पैरों पर खड़ी हुईं यूपी की यह बिटिया

वहीं इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए एक्टर ने एक किताब लिखी है जिसका नाम 'I Am No Messiah' है। सोनू सूद द्वारा लिखी इस किताब में एक्टर ने अपनी लॉक डाउन की जर्नी को शेयर किया है। वहीं अपनी इसके बारे में बात करते हुए सोनू सूद ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि 'मैं नहीं मानता हूं कि मैं किसी के लिए मसीहा हूं। मैं ये मानता हूं कि मैं उनकी जर्नी का एक हिस्सा हूं। मैं इस बात पर पूरी तरह से भरोसा करता हूं कि पिछले 6 महीनों में मैंने उनके साथ जो कनेक्शन बनाया है, उसने मुझे उनमें से एक बना दिया है।'

सोनू आगे बताते हैं कि 'मुझे आज भी वह पहला दिन याद है जह मैंने इस यात्रा की शुरुआत की थी। उस वक्त मैंने यह सोचा था कि एक इंसान होने के नाते मैंने अपना काम पूरा किया है। इसके साथ ही मैं यह उम्मीद में था कि बस किसी भी तरह यह कोरोना वायरस खत्म हो जाए। लेकिन जब मैंने करोड़ों प्रवासियों को पैदल चलकर अपने गांव जाते हुए देखा तब मुझसे रहा नहीं गया। मुझे यह लगा कि अगर मैं उनकी मदद करने नहीं गया तो कि ये सब कभी खत्म नहीं होगा। इसके बाद मैं सड़कों पर उतरा और उन सभी प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाया।'

जब यूजर सोनू सूद से कहा- 'शाहरुख जैसा बर्थडे मनवा दो', एक्टर के दिया ये मजेदार जवाब

वहीं बता दें कि सोनू सूद के इस नेक काम को के लिए अब उनके चाहने वालों ने उन्हें भगवान का दरजा भी दिया है। दुर्गा पूजा (durga puja 2020) के खास मौके पर एक्टर के चाहने वालों ने दुर्गा मां की जगह सोनू की मुर्ती को स्थापित किया थी। कोलकता के एक पंडाल में सोनू सूद की मुर्ती लगाई लगी थी। इस बात की जानकारी प्रफुल्ला कन्नन वेलफेयर असोसिएशन ने दिया था। उन्होंने कहा कि 'सोनू सूद की मूर्ति इसलिए लगाई गई है  ताकि सभी उनसे प्रेरित हो सके और जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए भी आगे आएं।' 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.