Monday, May 10, 2021
-->
sooraj pancholi got trolled after jiah khan documentary realeased sosnnt

जिया खान की Documentary के बाद जमकर ट्रोल हो रहे हैं सूरज पंचोली, लोगों ने कहा ये...

  • Updated on 1/14/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। काफी कम उम्र में बॉलीवुड में एंट्री करने वाली जिया खान (jiah khan) की मौत को पूरे 7 साल हो चुके हैं लेकिन आज भी उनकी मौत रहस्यमय है। साल 2013, 3 जून को को जुहू स्थित अपने घर में मृत पाईं गईं थीं। जिया का शव उनके कमरे के पंखे से लटका हुआ पाया गया था। मुंबई पुलिस के मुताबिक उनके कमरे से 6 पन्नों का एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था जिसमें जिया ने खुद को मारने की वजह लिखी थी। 

BBC ने रिलीज की जिया खान केस पर बनी Documentary, लेकिन नहीं देख पाएंगे भारतीय दर्शक

वहीं इतने सालों बाद जिया खान का सुसाइड केस फिर से अचानक खबरों में आ गया जब बीबीसी (bbc) ने एक्ट्रेस पर डाक्यूमेंट्री 'डेथ इन बॉलीवुड' (death in bollywood) बनाई। वहीं इस वक्त अब यह डाक्यूमेंट्री चर्चा का विषय बन चुका है। 3 एपिसोड में बनी इस डाक्यूमेंट्री में इस केस के सबसे बड़े दोषी माने जाने वाले बॉलीवुड एक्टर सूरज पंचोली और जिया खान की मां का भी जिक्र किया गया है। लेकिन इसे भारतिय दर्शक नहीं देख पाएंगे। 

वहीं डाक्यूमेंट्री के आते ही इस केस के सबसे बड़े अपराधी कहे जाने वाले बॉलीवुड एक्टर सूरज पंचोली को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। हालांकि वह इस केस में निर्दोष साबित हुए थे लेकिन जिया का परिवार आज भी सूरज पंचोली को अपराधी मानता है। 

 

लोग सूरज पर कई तरह के इल्जाम लगा रहे हैं और उन्हें जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। बता दें कि एक्टर पर जिया को सुसाइड के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया था। ऐसे में एक बार फिर लोगों का गुस्सा सूरज पर फूट पड़ा है। 

जिया खान की मां ने लगाए मुंबई पुलिस पर आरोप, कहा- FIR में वही लिखा जाता है जो उन्हें सूट करता है

आदित्य पंचोली ने उस रात कही थी ये बात
बता दें कि राबिया ने कहा था कि जिया की मौत वाली रात सूरज पंचोली के पिता आदित्य पंचोली वहां आए थे और मुझसे कह रहे थे कि अरे वो बेचारी बच्ची थी, मेरे बेटे ने तो अपने करियर की वाट लगा दी है, मैंने उसको बहुत कहा था कि तू वो हरकत मत कर जो मैं कर चुका हूं। आदित्य पंचोली सीसीटीवी में भी नजर आए थे लेकिन इस बात का जिक्र चार्जशीट में कहीं नहीं किया गया।

जिया के शरीर पर थे चोट के निशान
राबिया ने बताया कि जिया के शरीर पर चोट के निशान मौजूद थे। जिया के अंतिम संस्कार के वक्त 6-7 बड़े पुलिस ऑफिसर आए थे जिन्हें मैंने बोला कि मेरी बेटी को मारा गया है। मैंने उन ऑफिसर्स को बताया कि जिया के शरीर पर चोटों के निशान थे। ये सुनने के बाद उन्होंने जांच कर रहे अधिकारी से इसके बारे में पूछा तब उसने उन्हें फोटोज दिखाईं। फोटो देखकर वो सभी खड़े हो गए और उन ऑफिसर्स में मौजूद एसीपी ने मुझे कहा था कि विश्वास करिए, मैं आपको इंसाफ दिलाऊंगा लेकिन एक महीने बाद सब अपनी बात से पीछे हट गए। 

राबिया खान का दावा- सुशांत और जिया के केस में यूज हुआ एक ही ब्लू प्रिंट, ये बातें हैं कॉमन

एफआईआर में मुंबई पुलिस वही लिखती है जो उन्हें सूट करता है
राबिया खान ने मुंबई पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि वो एफआईआर में वही लिखते हैं जो उन्हें सूट करता है ना कि वो जो उन्हें दिख रहा है या फिर जो हम कह रहे हैं। पुलिस दो चीजें अपने कंट्रोल में रखती है, पहली है एफआईआर और दूसरी है पंचनामा। क्योंकि एफआईआर और पंचनामा दोनों जज के सामने जाएगा इसलिए वो उसमें वो चीजें लिखती है जो उन्हें सूट करता है। वो सबकुछ अपने कंट्रोल में रखकर उल्टा-सीधा कर देती है। पूछताछ भी उनसे की जाती है जिसका केस से कोई मतलब ही नहीं होता। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.