Sunday, Dec 04, 2022
-->

#Exclusive: इन 5 दिलों में छुपा है 'बाहुबली' की मौत का राज

  • Updated on 4/16/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। 'बाहुबली’ फिल्म ने बड़े पर्दे पर सफलता का पचरम तो लहराया लेकिन एक सवाल अब तक दर्शकों के दिल को रह-रहकर कचोटता रहा है कि आखिर कट्टप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? फिल्म के स्टार कलाकार सामने बैठे हैं तो यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि आखिर कट्टप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? चंडीगढ़ पहुंचे बाहुबली-2 के लीड हीरो प्रभास व राणा दग्गुबाती ने पंजाब केसरी और नवोदय टाइम्स से विशेष बातचीत में कहा कि अब तक यह लगातार पूछा जाने वाला सवाल रहा है, यहां तक कि फिल्म के बाद हम लोग जहां भी लोगों के रू-ब-रू हुए, हर जगह यही सवाल हमारे सामने खड़ा रहा।

हमने करीबन पांच सौ दिन मेहनत करके फिल्म तैयार कर दी लेकिन इस दौरान सबसे ज्यादा माथापच्ची इसी बात की रही कि यह राज सार्वजनिक न हो पाए।  फिल्म में केवल निर्देशक एस.एस. राजामौली के अलावा 4 ऐसे कलाकार ही हैं, जिनके दिल में यह राज दफन है कि आखिर कट्टप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा? बातचीत में दोनों मुख्य अभिनेताओं ने भी हंसकर बस यही कहा कि इस सवाल का जवाब उस फिल्म में ही मिल पाएगा क्योंकि जवाब बताकर नहीं, बल्कि देखकर ही पता चले तो फिल्म देखने का ज्यादा मजा आएगा। वैसे भी इस सवाल का जवाब इतना सरल नहीं है क्योंकि कई छोटी-छोटी घटनाएं जुडेंग़ी जो पूरा जवाब तैयार करेंगी। 

बाहुबली के बाद बाहुबली-2 के पर्दे पर आने में इतनी देर क्यों लगी?
राणा दग्गुबाती-बाहुबली जैसी फिल्म का निर्माण आसान नहीं है। पहली फिल्म देखकर खुद-ब-खुद अंदाजा लगाया जा सकता है कि इतना समय क्यों लगा? यह देश की पहली युद्ध आधारित बड़ी पीरियड फिल्म है और इसके निर्माण, ड्रैसअप, हथियार व अन्य साजो-सामान को तैयार करने में भी काफी समय लगा। यह ऐसी फिल्म नहीं थी कि कहीं भी जाकर शूट कर ली जाए। इसके लिए बहुत स्टीक सैट की जरूरत रहती थी। बड़े व भव्य सैट। करीबन 470 दिन का व्यस्त शूटिंग शैड्यूल रहा और उसके साथ ही फिर स्पैशल इफैक्ट्स पर भी लंबा काम किया गया है। 

महेंद्र बाहुबली व अमरेंद्र बाहुबली में आपका पसंदीदा कौन है?
प्रभास- 
अमरेंद्र बाहुबली को ज्यादा पसंद करता हूं। दोनों ही रोल बहुत अच्छे हैं, लेकिन सारी कहानी अमरेंद्र के इर्द-गिर्द घूमती है और अमरेंद्र बाहुबली हर तरीके से पूर्ण करैक्टर है चाहे वो युद्ध हो या फिर समझ। महेंद्र बाहुबली का कैरेक्टर भी काफी दमदार है, लेकिन मुझे अमरेंद्र बाहुबली वाला पार्ट ज्यादा पसंद है। 

Navodayatimesफिल्म के बारे में कहा जाता है कि यह हॉलीवुड की फिल्मों से प्रेरित है, खासतौर पर फिल्म के कई सीन हॉलीवुड की फिल्मों जैसे हैं?
राणा  दग्गुबाती-प्रभास-
ऐसा नहीं है। हमारे देश में ऐतिहासिक तथ्यों, युद्ध कहानियों की भरमार है। हमारा इतिहास है। फिर चाहे वो महाभारत हो, रामायण हो या अनेकों-अनेक दंत कथाएं जो पीढिय़ों से सुनाई जा रही हैं। राजामुली का कहना भी है कि उनकी प्रेरणा में अमर चित्र कथाओं की भूमिका है, जिनको वो बचपन से सुनते आए थे। बाहुबली में अगर आप ध्यान देंगे तो पता चलेगा कि इसमें इस्तेमाल हुए हथियार, युद्धकला इत्यादि सबकुछ भारतीय है। हॉलीवुड फिल्मों के युद्ध और हमारे युद्ध में बहुत बड़ा अंतर है जो कि भावनाओं से जुड़ा है। इतना ही नहीं, राजामुली द्वारा इस पर कड़ी मेहनत की गई है। खासतौर पर कालकेया जिस भाषा का इस्तेमाल करते हैं, बाकायदा उसकी एक डिक्शनरी तैयार की गई और उसके शब्दों को गढ़ा गया। कह सकते हैं कि फिल्म को पुरातन समय से जोडऩे के लिए काफी काम किया गया। 

बतौर अभिनेता बाहुबली व बाहुबली-2 में अभिनय करना कितना चुनौतीपूर्ण रहा?
प्रभास- हर दिन हर सीन हमें चैलेंजिंग लगा। पहली बार था कि किसी भारतीय फिल्म पर इस तरीके से मेहनत की गई है। पहली बाहुबली के वक्त काफी ज्यादा मेहनत हुई थी क्योंकि वह पहली रीयल वॉर फिल्म थी और शूटिंग के दौरान कइयों को चोटें लगीं, कइयों के शरीर पर निशान भी बने। लेकिन बाहुबली 2 द कन्कलूशन में काम करना उसके मुकाबले थोड़ा आसान रहा क्योंकि पहली फिल्म के वक्त ही हम काफी कुछ सीख चुके थे। यह एक बहुत बड़ा तुजुर्बा रहा हमारे लिए भी और फिल्म के निर्माण से जुड़े टैक्नीशियंस और अन्य टीम के लिए भी। हर रोज नया करने-सीखने को मिलता रहा। 

Navodayatimesबाहुबली द बिगनिंग की सफलता के बाद का क्या अनुभव रहा?
राणा दग्गुबती-
बाहुबली द बिगनिंग को दुनियाभर से मिले प्यार ने वाकई में हमारा जोश बढ़ाया है। यह एक ऐसी फिल्म रही जिसने कई सीमाओं को तोड़ा। बाहुबली की ही वजह से हम नॉर्थ इंडिया में जाने-पहचाने चेहरे बन चुके हैं। लोग हमें बाहुबली के हीरोज के तौर पर पहचानते हैं। यही नहीं, विदेशों तक इस फिल्म की धूम रही और फिल्म ने साबित किया कि पूरे भारत की सिनेमा भाषा एक ही है। 

क्या भविष्य में आप बतौर अभिनेता पीरियड वॉर फिल्म में दिखाई देंगे?
प्रभास-यदि भविष्य में फिर से किसी पीरियड वॉर फिल्म का ऑफर आता है तो कम से कम तीन-चार साल तो मैं उसमें काम नहीं कर पाऊंगा। बाहुबली अपने-आप में बड़ा प्रोजैक्ट है और इतने बड़े स्तर पर निर्मित हुई फिल्म के बाद किसी अन्य पीरियड वॉर फिल्म में काम करने से पहले काफी सोचना होगा। 

बड़े पर्दे पर पौराणिक कथाओं पर आधारित फिल्मों को अपार सफलता मिल रही है तो क्या कहा जा सकता है कि दर्शकों का रुझान प्यार-मोहब्बत से इतर फिल्मों की तरफ बढ़ रहा है?
प्रभास- नहीं, ऐसा नहीं है। हर तरह का सिनेमा साथ-साथ चलता रहता है। दर्शक हर तरीके का एंटरटेनमैंट चाहते हैं। फिल्म मजेदार हो, कहानी कुछ भी हो,  बस दर्शक का मनोरंजन होना चाहिए। वही जरूरी होता है। पीरियड फिल्मों के साथ-साथ कॉमेडी, रोमांटिक स्टोरीज, रीयल लाइफ स्टोरीज,  बायोग्रॉफीज भी चल रही हैं। हर फिल्म के जॉनर का दर्शक मौजूद है इसलिए यह कहना वाजिब नहीं होगा कि रोमांटिक कहानियों का दौर खत्म हो रहा है।

बाहुबली-2 के साथ क्या बाहुबली सीरीज का अंत हो जाएगा?
राणा दग्गुबाती- 
बाहुबली दरअसल कई कहानियों का मेल है। बाहुबली फिल्म से पहले भी एक कहानी है राइज आफ शिवगामी। सोर्ड आफ बाहुबली जैसी कहानियां भी बनीं और यह बाहुबली से जुड़ती हैं। बाहुबली-2 में बाहुबली पार्ट 1 की कहानी का अंत हो जाएगा, लेकिन इससे सबकुछ खत्म नहीं होगा। बाहुबली की कहानी चलती रहेगी।

Navodayatimesबाहुबली-2 की शूटिंग के दौरान सीन लीक होने की भी बात सामने आई थी?
राणा दग्गुबाती- देखिए, इतने बड़े प्रोजैक्ट के कुछ सैकेंड के सीन लीक हुए थे। संभव है कि उन्हें फिल्म में इस्तेमाल भी न किया गया हो इसलिए यह बड़ी बात नहीं है। हां, सैट पर फिल्म की लीकेज रोकने के लिए काफी कुछ किया जाता था और इसके लिए बाकायदा कुछ लोगों का स्टाफ भी काम पर लगाया गया था। 

बाहुबली के लिए बतौर अभिनेता कितनी मेहनत करनी पड़ी?
प्रभास-
फिल्म के लिए रोल के मुताबिक ढलने के लिए फिल्म साइन करने के बाद से ही हमारी ट्रेनिंग शुरू कर दी गई थी। फिल्म में स्पैशल हथियारों का इस्ेतमाल किया गया है, और उनके लिए हमारे द्वारा खास ट्रेनिंग लेना बहुत जरूरी था क्योंकि हथियारों को हमारे मुताबिक डिजाइन किया गया था। कई हथियार तो ऐसे रहे जिन्हें इस्तेमाल करने से पहले कई तरह का नापतोल करने की जरूरत पड़ती थी। शारीरिक बनावट के लिए डाइट व व्यायाम पर जोर दिया गया। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.