Tuesday, Aug 16, 2022
-->
sridevi wax statue in singapore madam tussaud museum janhvi kapoor

मैडम तुसाद म्यूजियम में श्रीदेवी के पुतले को देख भावुक हुईं जाह्नवी और खुशी, देखें तस्वीरें

  • Updated on 9/4/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड की दिग्गज एक्ट्रेस श्रीदेवी (sridevi) बेशक ही आज हमारे साथ नहीं है लेकिन उनकी शानदार फिल्में आज भी उनकी याद बनके सबके दिलों में जिन्दा है। वहीं श्रीदेवी (sridevi) की याद में सिंगापुर के मैडम तुसाद म्यूजियम (madame tussaud museum) में उनका मोम का पुतला अनविल किया गया। इस खास मौके पर खुद श्रीदेवी की दोनों बेटियां और पति बोनी कपूर (Boney kapoor) वहां पहुंचे।

Navodayatimes

श्रीदेवी के जीवन पर अब आएगी किताब, क्या होगा उनके मौत का भी खुलासा?

मां के पुतले को देख भावुक हुईं जाह्नवी और खुशी
इस इवेंट की तस्वीरें सामने आते ही फैंस के रिएक्शन भी आने लगे। वहीं मां के पुतले को देख जाह्नवी (Janhvi kapoor) और खुशी (Khushi kapoor) दोनों काफी भावुक दिखीं। दोनों अपनी मां के पुतले को काफी देर तक गौर से देखती रहीं। बोनी कपूर भी श्रीदेवी के इस मोम के पुतले को देख काफी इमोशनल हो उठे।

Navodayatimes

श्रीदेवी की जंयती पर तिरुपति मंदिर पहुंचीं जाह्नवी कपूर, देखें Photos

सिंगापुर के मैडम तुसाद म्यूजियम में अनविल किया पुतला
मैडम तुसाद म्यूजियम (madame tussaud museum) में श्रीदेवी (Sridevi) का जो पुतला बनाया गया है, वो उनकी बहुचर्चित फिल्म मि.इंडिया (Mr. india) में उनके किरदार हवा हवाई (Hawa hawai) का है। इस पुतले को देख लगता ही नहीं कि श्रीदेवी अब सच में हमारे बीच नहीं हैं। इस मौके पर जब खुशी और जान्हवी से उनकी मां को लेकर सवाल किया गया तो वो काफी उदास हो गईं। 

Navodayatimes

Birthday Special : श्रीदेवी की रहस्यमयी मौत, अभी भी अनसुलझे हैं कई सवाल

पुतले को देर तक देखती रहीं जाह्नवी
इस इवेंट की तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि किस तरह श्रीदेवी के पुतले जान्हवी और खुशी एक नजर देख रही हैं। मानों अभी उनकी मां उनसे बाद करेगी। वहीं मां के पुतले को जिस तरह जान्हवी ने पकड़ा हुआ था इसे देख ऐसा लगा कि श्रीदेवी उनके बीच ही हैं।

Navodayatimes

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.