Saturday, Jan 22, 2022
-->
subramanian swamy question why was glass from which sushant singh rajput last drunk jsrwnt

सुब्रमण्यम स्वामी- उस ग्लास को सुरक्षित क्यों नहीं रखा, जिसमें सुशांत ने अंतिम समय पिया था जूस

  • Updated on 10/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को 4 महीने हो गए हैं। लेकिन अभी तक सीबीआई इस केस को सुलझा नहीं पाई है। इस केस में अब एक नया सवाल सामने आया है। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने मंगलवार को सुशांत केस पर एक नया सवाल किया, जो बेहद मान्य है।

स्वामी ने कहा कि मौत के दिन, जिस ग्लास में सुशांत ने आखिरी बार नारियल पानी और संतरे का जूस पिया था, पुलिस ने उसे संभाल के क्यों नहीं रखा। जबकि वह बहुत जरूरी था। 

अब सुशांत के फैंस करेंगे 'मन की बात', पीएम मोदी के सामने लगाएंगे न्याय की गुहार

उन्होंने ये भी ट्वीट किया कि पुलिस ने उस अपार्टमेंट को सील क्यों नहीं किया, जिसमें घटना हुई थी। जबकि, अप्राकृतिक मृत्यु में ऐसा करना अनिवार्य है। 

सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह ने कहा था कि जब मैंने डॉक्टर गुप्ता को सुशांत की बॉडी की तस्वीरें दिखाई थीं, तो उन्होंने कहा था कि यह 200 फीसदी दम घोंटकर जान लेने का मामला है।

सुशांत केस में आया नया मोड़! करण जौहर के खिलाफ जारी हुआ नोटिस

विकास सिंह ने कहा ये
विकास सिंह ने अपने आरोप पत्र में एम्स की फॉरेंसिक टीम पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि इस केस की जांच को सीबीआई की दूसरी फॉरेंसिक टीम को भेज देना चाहिए।आपको बता दें कि सीबीआई ने भी एम्स रिपोर्ट पर अपनी मुहर लगा दी है और उन्होंने भी ये मान लिया है कि सुशांत की मौत आत्महत्या थी।

सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही छोटे विराट-अनुष्का की यह मजेदार फोटो

वकील ने उठाई ये मांग
आपको बता दें कि इससे पहले सुशांत के पिता केके सिंह के वकील, विकास सिंह ने इस रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्तिया देते हुए कहा था कि वो और एक्टर का परिवार इससे संतुष्ट नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि वो सीबीआई प्रमुख से इस केस में नई फोरेंसिक टीम का गठन करने की मांग करेंगे।

ट्वीट कर विकास सिंह ने जाहिर की परेशानी
विकास सिंह ने एक ट्वीट कर एम्स मेडिकल बोर्ड द्वारा दी गई रिपोर्ट पर अपनी परेशानी जाहिर की थी। विकास सिंह ने लिखा है कि 'एम्स की रिपोर्ट से बहुत ज्यादा परेशान हूं। सीबीआई के डायरेक्टर से अनुरोध करूंगा कि वो एक नई फॉरेंसिक टीम बनाएं। बॉडी की गैरमौजूदगी में एम्स टीम कैसे कोई कॉनक्लूसिव रिपोर्ट दे सकती है, वो भी तब जब कूपर हॉस्पिटल द्वारा किया गए पोस्टमार्टम के इतनी खामियां निकलीं हैं, जिसमें मौत का समय भी नहीं बताया गया है। 

comments

.
.
.
.
.