Thursday, Aug 18, 2022
-->
taarak mehta ka ooltah chashmah fame munmun dutta fir lodged for casteist remark aljwnt

तारक मेहता फेम मुनमुन दत्ता की बढ़ीं मुश्किलें, जातिसूचक शब्द के इस्तेमाल पर मुंबई में FIR दर्ज

  • Updated on 5/30/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पॉपुलर टीवी शो 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' फेम एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता (Munmun Dutta) यानी की 'बबीता जी' की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रहीं हैं। जातिसूचक शब्द के इस्तेमाल पर हरियाणा में शिकायत होने के बाद अब मुंबई में भी उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है। दरअसल, मुनमुन ने हाल ही में अपने सोशल मीडिया हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया था। मुनमुन पर आरोप है कि उन्होंने इस वीडियो में जातिवाचक शब्द का इस्तेमाल किया। 

इसी मामले को लेकर मुंबई से पहले मुनमुन के खिलाफ हरियाणा और मध्यप्रदेश में भी केस दर्ज हो चुका है। इसके साथ ही इस मामले में लोग लगातार मुनमुन को ट्रोल कर रहे हैं।

मुनमुन दत्त के खिलाफ हरियाण में भी दर्ज हो चुका है केस
इस वीडियो के वायरल होने के बाद लोगों ने उन्हें दलित समुदाय के लिए जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने के लिए जमकर खरी खोटी सुनाई थी और सोशल मीडिया पर अभिनेत्री को गिरफ्तार करने की मांग भी की थी। इसके बाद, मुनमुन के खिलाफ हरियाणा में शिकायत दर्ज की गई। बता दें कि नेशनल अलायंस फॉर दलित ह्युमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन ने हांसी एसपी को शिकायत करते हुए मुनमुन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। उन्होंने आरोप लगाया कि अभिनेत्री ने पूरे देश में अनुसूचित जाति समाज का अपमान किया है जिससे उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है। इस गलती के लिए मुनमुन दत्ता को गिरफ्तार किया जाए।

जैकलीन फर्नांडीज ने 'टाइम्स 40 अंडर 40' की सूची में बनाई जगह!

ट्रोल होने के बाद मुनमुन ने दलित समुदाय से मांगी माफी
ट्रोलिंग के बाद मुनमुन को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने सभी से माफी भी मांगी। मुनमुन ने एक पोस्ट जारी किया जहां उन्होंने एक लंबा नोट लिखते हुए अपनी तरफ से सफाई दी। एक्ट्रेस ने लिखा 'यह एक वीडियो के संदर्भ में है जिसे मैंने कल पोस्ट किया था। जहां मेरे द्वारा इस्तेमाल किए गए एक शब्द का गलत अर्थ लगाया गया है। यह अपमान, धमकी, या किसी की भावनाओं को चोट पहुंचाने के इरादे से कभी नहीं कहा गया था| भाषा की सीमित जानकारी के कारण, मुझे उस शब्द के अर्थ के बारे में गलत जानकारी थी। एक बार जब मुझे इसके अर्थ से अवगत कराया गया तो मैंने तुरंत उस भाग को निकाल दिया| हर जाति, पंथ या लिंग के हर एक व्यक्ति का मैं सम्मान करती हूं और हमारे समाज या राष्ट्र में उनके अपार योगदान को मैं स्वीकार करती हूं। मैं ईमानदारी से हर एक व्यक्ति से माफी मांगना चाहती हूं जो शब्द के उपयोग से अनजाने में आहत हुए हैं। मुझे उस के लिए खेद है।'

युविका के खिलाफ भी दर्ज हुई एफआईआर
वहीं दूसरी तरफ, टीवी एक्ट्रेस युविका चौधरी (Yuvika Chaudhary) की मुश्किलें भी बढ़ती हुई नजर आ रहीं हैं। जी हां, युविका के खिलाफ अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत अनुसूचित जाति के लिए अपमानजनक टिप्पणी करने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। युविका पर ये एफआईआ हांसी के एडवोकेट रजत कल्सन द्वारा दर्ज कराई गई है।

एडवोकेट रजत कल्सन ने अपनी शिकायत में कहा है कि युविका ने हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने अनुसूचित जनजाति के लिए अपमानजनक शब्द का इस्तेमाल किया और गलत टिप्पणी की। शिकायत दर्ज कराने के साथ-साथ एडवोकेट ने उस वीडियो की फुटेज सीडी में सबूत के तौर पर दी है। इस शिकायत की जांच करने के बाद युविका के खिलाफ अनुसूचित जनजाति अधिनियम की धारा 3 (1)(यू) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। बता दें, ये धारा गैर जमानती होती है।


पढ़ें बॉलीवुड से जुड़ी और भी दिलचस्प खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.