Tuesday, Mar 26, 2019

#Uri Review: धमाल मचाने वाली है सर्जिकल स्ट्राइक की ये रोमांचक कहानी

  • Updated on 1/11/2019
  • Author : Alka Jaiswal

स्टारकास्ट: विक्की कौशल, यामी गौतम, परेश रावल, मोहित रैना
डायरेक्टरः आदित्य धर
रेटिंग: 4 स्टार/5*

नई दिल्ली/अल्का जायसवाल। बड़े पर्दे पर दिखने वाले हीरो तो अकसर ही लोगों का दिल जीतते हुए नजर आते हैं लेकिन जब असल जिंदगी के हीरो का फिल्मांकन पर्दे पर किया जाए तो वो मंजर ही कुछ और होता है। साल 2016 में हुए उरी हमले का किस्सा तो हर किसी को याद होगा लेकिन अगर आप हमले के उस दर्द को और भारतीय सैनिकों द्वारा लिए गए बदले के उस जज्बे को खुद महसूस करना चाहते हैं तो 11 जनवरी को सिनेमाघर जाना ना भूलें। जी हां, विक्की कौशल अभिनीत और आदित्य धर द्वारा निर्देशित फिल्म 'उरीः द सर्जिकल स्ट्राइक' इस शुक्रवार रिलीज हो रही है। यह फिल्म सितंबर 2016 में पाक अधिकृत कश्मीर में की गई सर्जिकल स्ट्राइक की सच्ची घटना पर आधारित है जब भारतीय सेना के जवानों ने LoC पार पाकिस्तान की सरजमीन पर उतरकर उरी अटैक का बदला लिया था। इस फिल्म को कश्मीर के उरी क्षेत्र में हुए आतंकवादी हमले का बदला लेने वाले भारतीय सैनिकों के लिए एक बेहतरीन ट्रिब्यूट कहा जा सकता है।

Navodayatimes

जज्बे से भरी 'कहानी'
कहानी शुरू होती है जून 2015 से जब मेजर विहान शेरगिल (विक्की कौशल) और कैप्टन करण कश्यप (मोहित रैना) मणिपुर क्षेत्र के आतंकवादी अड्डों को एक मिशन के तहत खत्म करते हैं। मिशन कामयाब होने पर प्रधानमंत्री (रजित कपूर) और एनएसए प्रमुख गोविंद भारद्वाज (परेश रावल) सेना के जवानों के सम्मान में डिनर पर बुलाते हैं। इस कार्यक्रम के दौरान मेजर विहान अपनी मां (स्वरुप संपत) की अल्माइजर की बीमारी के चलते सेना से रिटायरमेंट लेने की बात करते हैं, जिस पर प्रधानमंत्री सलाह देते हैं कि वह रियाटरमेंट लेने की जगह दिल्ली में ही सेना मुख्ययालय ज्वॉइन कर लें जिससे कि वो अपनी मां के साथ भी रह सकें और सेना का हिस्सा भी बने रहें। प्रधानमंत्री की सलाह को मानते हुए विहान बॉर्डर को छोड़कर दिल्ली में पोस्टिंग ले तो लेते हैं लेकिन सीमा पर देश की रक्षा करने वाले हाथ फाइल और कंप्यूटर में सुकून नहीं तलाश पाते।

Exclusive Interview: सच्चाई के बहुत करीब है 'उरी'-द सर्जिकल स्ट्राइक

इसी दौरान उरी में अचानक एक रात वहां सो रहे जवानों पर आतंकी हमला होता है। इस हमले में सेना के 19 सैनिक शहीद हो जाते हैं। इन शहीदों में एक नाम शामिल होता है विहान के दोस्त और जीजा करण कश्यप का। जहां एक तरफ सरकार में इस हमले से गुस्सा फूट जाता है वहीं करण की मौत के बदले की आग विहान के सीने में जलने लगती है। इसी गुस्से और बदले की आग से शुरू होता है सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने का सिलसिला। इस मिशन में भारतीय सेना की मदद करती हैं इंटेलिजेंस ऑफिसर वायु सेना की कमांडर पल्लवी शर्मा (यामी गौतम)।

Navodayatimes

दमदार 'एक्टिंग'
फिल्म में सभी अभिनेताओं ने अपने किरदार को पूरी तरह से जिया है। विक्की कौशल की बात करें तो मेजर के किरदार में उनके अंदर भारतीय सेना के जवान के जज्बे की दमदार झलक दिखती है। वहीं टीवी सीरियल 'देवों के देव महादेव' से लोगों के बीच लोकप्रिय हुए मोहित रैना ने इस फिल्म में कैप्टन के किरदार को पूरी शिद्दत से निभाया है। यामी गौतम भी इंटेलिजेंस ऑफिसर के रोल में काफी फिट बैठीं हैं। 'पिंक' में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाने के बाद कीर्ति कुलहारी इस फिल्म में भारतीय वायुसेना पायलट सीरत कौर का दमदार किरदार निभाती हुई नजर आ रही हैं। इसके साथ ही प्रधानमंत्री के किरदार में रजित कपूर ने अपने किरदार के साथ पूरा इंसाफ किया है। गोविंद भारद्वाज के किरदार में परेश रावल आपको अजीत डोभाल की झलक दिखाते हैं।

जब विक्की और यामी ने उरी हमले का शिकार हुए परिवारों से की मुलाकात

Navodayatimes

'डायरेक्शन' काबिले-तारीफ
उरी से डायरेक्शन की शुरुआत करने वाले आदित्य धर ने निर्देशक के तौर पर अपनी पहली ही फिल्म से लोगों का दिल जीत लिया है। इस फिल्म को देखकर ये कहा नहीं जा सकता कि इसकी कमान किसी नए डायरेक्टर ने संभाली होगी। उरी हमले के दर्द और भारतीय सेना के जज्बे को पर्दे पर बखूबी उतारा गया है। इस फिल्म की सबसे खास बात ये है कि इसमें आपको देशभक्ति महसूस कराई गई है। आपको एहसास ही नहीं होगा कि आप पर्दे पर कोई फिल्म देख रहे हैं, ऐसा लगेगा कि आपके सामने एक के बाद एक घटनाएं होती चली जा रही हैं और आप इन घटनाओं में इतना डूब जाएंगे की अंत में उस जीत की खुशी आप खुद महसूस कर सकेंगे।

Navodayatimes

जोश और इमोशन्स से भरा 'म्यूजिक'
इस फिल्म में शशावत सचदेव ने अपने म्यूजिक से चार चांद लगा दिया है। अलग-अलग परिस्थिति को और भी जीवंत बनाने के लिए इस फिल्म में तीन गाने रखे गए हैं। इनमें से एक गाना 'छल्ला' आपको देशभक्ति के रंग में रंग देता है तो दूसरा गाना 'बह चला' शहीद हुए जवान की शहादत पर आंखें नम कर देता है। तीसरा गाना है 'जिगरा' जो काफी मोटिवेशनल है।

'उरी' के निर्माताओं ने सेना के वीर जवानों को दिखाया ट्रेलर और फिल्म से जुड़ी अनदेखी झलकियां

Navodayatimes

क्यों देखें
1. अगर आप उरी अटैक में हुई शहादत के दर्द और जवानों के जज्बे को महसूस करना चाहते हैं तो ये फिल्म आपकी उम्मीदों पर खरी उतरेगी।

2. अगर आप सर्जिकल स्ट्राइक की हर बारीकी को जानना चाहते हैं तो ये फिल्म जरूर देखें। 

3. अगर आप एक फौजी की जिंदगी को और भी करीब से देखना चाहते हैं तो ये फिल्म आपके लिए एक अच्छा मौका है।

4. अगर आप फिक्शन स्टोरी से बोर हो चुके हैं और एक असली कहानी देखना चाहते हैं तो ये फिल्म आपके लिए ही है।

5. अगर आपको एक्शन पसंद है तो ये फिल्म देखना ना भूलें क्योंकि इस फिल्म में एक्शन पर बड़ी सफाई से काम किया गया है।

Navodayatimes

क्यों ना देखें
अगर आप किसी लाइट सी मूवी की तलाश में हैं तो हम आपको बता दें कि ये मूवी बेहद ही सीरियस और सस्पेंस से भरपूर है।

Navodayatimes

चलते-चलते फिल्म के कुछ डायलॉग्स पढ़ लीजिए-

  • फर्ज और फर्जी में बस एक मात्रा का फर्क होता है।
  • पाकिस्तान जो भाषा समझता है, उसी भाषा में उसको समझाने का समय अब आ गया है।
  • ये हिंदुस्तान अब चुप नहीं बैठेगा, ये नया हिंदुस्तान है. ये घर में घुसेगा भी और मारेगा भी।
  • कमांडर्स, इंडियन आर्मी ने ये जंग शुरू नहीं की थी बट वी विल ब्लडी हेल फिनिश इट।
  • अपनी 72 हूरों को हमारा सलाम बोलना, कहना दावत पर इंतजार करें, हम आज बहुत सारे मेहमान भेजने वाले हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.