Sunday, Oct 17, 2021
-->
garlic milk can cut off your many dieases see the benefits

रोजाना पिएं लहसुन का दूध, अस्थमा और कोलेस्ट्रॉल जैसी कई गंभीर बीमारियों से आप रहेंगे दूर

  • Updated on 7/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वैसे तो हरि साघ सब्जियां (Green Vegetables) हमारे सेहत के लिए काफी फायदेमंद (Benefits) होती है लेकिन कुछ सब्जियां इंसानो को ज्यादा पसंद नहीं आती है। रोजाना घर में सब्जी के साथ पड़ने वाले प्याज (Onion), टमाटर (Tomato), अदरक (Ginger) को तो लोग खाने में बहुत पसंद करते हैं लेकिन जब बात लहसून (Garlic) की आती है तो लोगों को सांप सूंघ जाता है।

आमतौर पर कई लोग लहसून को खाना पसंद नहीं करते हैं लेकिन स्वास्थ्य के मामले लहसून (Garlic) एक बहुत ही कारगर दवा है। एक शोध (Research) के मुताबिक ऐसा देखा गया है कि लहसून खानें से इंसान के शरीर के आधे रोग (Dieases) अपने आप ही कट जाते हैं। लहसून इंसान के कई रोगों के लिए बहुत कारगर है जैसे ये हाई बीपी (High BP) को नियंत्रित (Control) रखने में मदद करता है, पेट के तमाम रोगों से छुटकारा दिलाता है, डाइजेशन (Digestion) की समस्या को दूर करता है, दिल कोल स्वस्थ रखता है आदि।

विश्व प्लास्टिक सर्जरी डे : सिर्फ खूबसूरती ही नहीं, खोया आत्मविश्वास भी लौटाती है प्लास्टिक सर्जरी

लेकिन क्या आप जानते हैं कि लहसून (Garlic) के अलावा इसका दूध (Milk) भी शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। जी हां, आपको बता दें कि, लहसून का दूध (Garlic Milk) इंसान के कई खतरनाक रोगों से लड़ने में मदद करता है। साथ ही ये आपको चुस्त और तंदुरुस्त भी रखता है। इस दूध को रोजाना पीने से आप अस्थमा और कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) जैसी कई गंभीर बीमारियों से दूर रहेंगे। आइए जानते हैं कि कैसे इस दूध (Milk) को आप अपने घर पर बना सकते हैं और क्या है इसके लाभ।

लहसून का दूध पीने के फायदे

अस्थमा जैसे गंभीर रोग से लड़ता है लहसून का दूध

लहसून एक औषधी है और अगर इसे रात में दूध में मिलाकर पीया जाए तो अस्थमा जैसी कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। इसका इस्तेमाल के लिए रोजाना रात में एक गिलास लहसून के दूध का सेवन करें। 

कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में मदद करता है

अगर आपको कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो लहसून का दूध आपके सेहत के लिए बहुत लाभकारी दवा है। इसका इस्तेमाल करने के लिए हर हफ्ते में रोजाना इसका सेवन करना चाहिए। ऐसा करने से आप कोलेस्ट्रॉल की समस्या से बचे रहेंगे।

बारिश में तेजी से फैल रही लेप्टोस्पायरोसिस बीमारी, जानें इसके लक्षण और बचाव के कारण

टीबी का जड़ से इलाज करता है

टीबी (Tuberculosis) की समस्या एक ऐसी चीज है जिसका इलाज केवल डॉक्टर के पास होता है। लेकिन अब आप इस समस्या का घर बैठे भी इलाज कर सकते हैं। वो ऐसे की रोजाना लहसून के दूध का सेवन करें। एक शोध में ऐसा देखा गया है कि लहसून के अंदर सल्फ्यूरिक एसिड पाया जाता है जो टीबी के कीटाणुओं से लड़ने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए लहसून के दूध को उबाल कर पीएं इससे आपकी टीबी समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।

निमोनिया जैसी बीमारियों से छुटकारा दिलाता है

पानी में ज्यादा रहने के कारण जब निमोनिया (Pneumonia) हो जाता है तो सिर्फ डॉक्टर ही याद आता है। लेकिन अब इस समस्या का इलाज घरेलू नुस्खों से हो सकता है। बता दें कि, निमोनिया का इलाज अब आप लहसून का दूध पीकर कर सकते हैं। इसके लिए आपको लहसून के दूध का काढ़ा रोजाना दिन में तीन बार करना होगा। इससे निमोनिया की समस्या पल भर में खत्म हो जाएगी।

फटे हुए दूध के पानी से मिल सकते हैं 5 लाभ, खबर में पढ़ें

नींद की समस्या को पल में दूर करता है

नींद ना आने की समस्या (Sleeping Problem) आज कल लोगों के लिए बहुत आम बात हो गई है जिसके लिए वे कई दवाईयो का सेवन करने लगते हैं। लेकिन अब इस समस्या का हल आसानी से लहसून के दूध से हो सकता है। आपको बता दें कि, रोजाना लहसून का दूध (Garlic Milk) पीने से नींद की समस्या खत्म हो जाती है। इसके लिए एक गिलास दूध रोज रात को पीएं।

जानिए कैसे बनता है लहसून का दूध 

सामग्री

लहसून - 2-3 कलियां
दूध - 1 कप 
हल्दी पाऊडर - 1/4 चम्मच
काली मिर्च - 1 चुटकी
शहद - 1 बड़ा चम्मच

विधि

इस दूध को बनाने के लिए पहले एक सॉस पैन ले उसमें 1 कप दूध (Milk) को गर्म कर लें इसके बाद दूध में 2 से 3 लहसून की कलियां डाल लें। फिर इसे अच्छे से उबाल लें। इसके बाद जब दूध उबल जाए तो उसमें 1/4 चम्मच हल्दी पाऊडर (Turmeric Powder) और 1 चुटकी काली मिर्च (Black pepper) मिला लें। दूध के ठंडा हो जाने के बाद इससे अच्छे से फेट लें फिर आखिर में इसमें 1 बड़ा चम्मच शहद (Honey) मिला लें और आखिर में इसे पीलें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.