Thursday, Jan 27, 2022
-->
slow-walk-may-be-memory-problem

धीमे चलने की गति हो सकती है मेमोरी समस्या, पढ़ें ये रिपोर्ट

  • Updated on 3/26/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शोधकर्ताओं ने पाया है की ज्यादा उम्र के लोगो की चलने की गति में अगर धीमापन आए तो एेसे में मनोभ्रंश का ज्यादा खतरा होता है। यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के रूथ ए हैकेट की अगुआई में यह पता चला है कि जिन लोगों को दो साल की अवधि में तेजी से चलने की गति में तेजी से गिरावट आई है, वे भी मनोभ्रंश के खतरे में हैं।

हिचकी से हैं परेशान तो अपनाएं ये नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम

2015 तक, दुनिया भर में लगभग 47 मिलियन लोगों के मनोभ्रंश में होने की आशंका थी। एक मेमोरी समस्या जो आपके सामान्य कार्यों को पूरा करने की आपकी क्षमता को प्रभावित करने के लिए काफी महत्वपूर्ण थी। मनोभ्रंश का सबसे आम कारण अल्जाइमर रोग है, लेकिन अन्य रूप भी मौजूद हैं।

अमेरिकन गेराट्रिक्स सोसाइटी के जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के लिए, एक अंतरराष्ट्रीय टीम के शोधकर्ताओं में 60 या उससे अधिक आयु के लगभग 4,000 पुराने वयस्कों की चलने की गति, परिवर्तन करने और निर्णय लेने की क्षमता में परिवर्तन, और मनोभ्रंश शामिल हैं।

लाइफस्टाइल में बदलाव कैंसर के हजारों मामलों को रोक सकता है, पढ़ें ये खास रिपोर्ट

उन्होंने 2002-2003 और 2004-2005 में दो मौकों पर प्रतिभागियों की गति का मूल्यांकन किया था, और 2006-2015 से परीक्षण के बाद प्रतिभागियों ने मनोभ्रंश विकसित किया, उन लोगों की तुलना की, जिन्होंने उन लोगों के साथ मनोभ्रंश विकसित किया था जिनके पास नहीं था।

शोधकर्ताओं ने नोट किया की चलने की गति में बदलाव और पुराने वयस्क की सोच में और फैसला करने की क्षमता में परिवर्तन, जरूरी नहीं कि डिमेंशिया विकसित होने के जोखिम को प्रभावित करने के लिए एक साथ काम करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.