space-travel-can-affect-this-part-of-human-body-big-research-on-mouse-deeep-space

अंतरिक्ष की यात्रा से शरीर का ये पार्ट हो सकता है प्रभावित

  • Updated on 8/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चूहों (Rats) पर किए गए अध्ययन के बाद दावा किया गया है कि बाह्य अंतरिक्ष (Deep Space) की यात्रा के दौरान वहां मौजूद विकिरण (Radiation) के संपर्क में आने से मस्तिष्क की कार्य प्रणाली प्रभावित हो सकती है और व्यक्ति की सीखने और याद रखने की क्षमता कुंद पड़ सकती है। 

केजरीवाल ने अब दिल्ली को दिया वाई-फाई का तोहफा, हर महीने मिलेगा फ्री डेटा

Deep Space के लिए इमेज परिणाम

शोध में मंगल यात्रा की तैयारी कर रहे अंतरिक्ष यात्रियों के दिमाग को विकिरण से बचाने के लिए मजबूत सुरक्षा तंत्र विकसित करने पर जोर दिया गया है। शोधकर्ताओं ने बताया कि विकिरण दिमाग की अन्य प्रक्रिया के साथ संकेत भेजने की प्रणाली को भी नुकसान पहुंचाता है। इस शोध दल में अमरीका के कैलिफोर्निया, इरविन और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ता भी शामिल थे।  

कश्मीर को लेकर अपने ही बुने जाल में फंस सकता है पाकिस्तान!

Deep Space के लिए इमेज परिणाम

उन्होंने कहा कि बाह्य अंतरिक्ष की यात्रा कैसे तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करती है, यह जानने के लिए कि शोधकर्ता चार्ल्स लिमोई और अमरीका स्थित कोलोराडो स्टेट यूनिर्विसटी और ईस्टर्न वर्जीनिया स्कूल ऑफ मेडिसीन के सहयोगियों ने चूहों को छह महीने तक नियमित रूप से कम मात्रा में विकिरण के संपर्क में रखा।      

सनी देओल फिलहाल राजनीति से ज्यादा बेटे करण का करियर संवारने में जुटे!

Deep Space के लिए इमेज परिणाम

उन्होंने पाया कि विकिरण के संपर्क में रहने की वजह से दिमाग के हिप्पोकैंपस और प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स में कोशिकीय संकेत प्रणाली बाधित हो गई, इससे उनके सीखने और याद रखने की क्षमता कुंद पड़ गई। यह संकेत है कि विकिरण से भावनाओं को नियंत्रित करने के लिए जिम्मेदार दिमाग का एमीग्डाल (प्रतिमस्तिष्काखंड) भी प्रभावित होता है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.