Monday, Sep 21, 2020

Live Updates: Unlock 4- Day 21

Last Updated: Mon Sep 21 2020 09:28 PM

corona virus

Total Cases

5,523,917

Recovered

4,440,775

Deaths

88,345

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA1,208,642
  • ANDHRA PRADESH631,749
  • TAMIL NADU547,337
  • KARNATAKA526,876
  • UTTAR PRADESH358,893
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • NEW DELHI246,711
  • WEST BENGAL225,137
  • ODISHA184,122
  • BIHAR180,788
  • TELANGANA172,608
  • ASSAM156,680
  • KERALA131,027
  • GUJARAT124,767
  • RAJASTHAN116,881
  • HARYANA111,257
  • MADHYA PRADESH103,065
  • PUNJAB97,689
  • CHANDIGARH70,777
  • JHARKHAND69,860
  • JAMMU & KASHMIR62,533
  • CHHATTISGARH52,932
  • UTTARAKHAND27,211
  • GOA26,783
  • TRIPURA21,504
  • PUDUCHERRY18,536
  • HIMACHAL PRADESH9,229
  • MANIPUR7,470
  • NAGALAND4,636
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS3,426
  • MEGHALAYA3,296
  • LADAKH3,177
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2,658
  • SIKKIM1,989
  • DAMAN AND DIU1,381
  • MIZORAM1,333
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
the same medicine will be effective in diabetes and heart disease know the reason

एक ही दवा मधुमेह व हृदय रोग में होगी प्रभावी, जानें वजह

  • Updated on 12/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अुनसंधान परिषद (सीएसआईआर) ने एक ऐसी दवा विकसित की थी जो टाइप-2 मधुमेह से पीड़ित लोगों के उपचार में प्रभावी है लेकिन अब यह भी खुलासा किया गया है कि इस दवा से हृदय रोग का जोखिम भी 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

health

दवा आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों के मिश्रण से तैयार की गई है। सीएसआईआर ने इसे गहन अध्ययन के बाद अपने प्रयोगशालाओं में तैयार किया है। दवा को लेकर लंबी ट्रायल भी की गई है। वहीं बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के भी वैज्ञानिकों ने इस फॉर्मूलेशन को प्रभावी पाया है।

बायो आर्टिफिशियल सपोर्ट डिवाइस से लिवर के मरीजों को मिलेगी नई जिंदगी

health


केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाईक के मुताबिक मंत्रालय के अधीन सीएसआईआर के वैज्ञानिकों ने काफी गहन अध्ययन के बाद बीजीआर-34 नामक तैयार की है जिसमें कई औषधियां हैं जो डायबिटीज को नियंत्रण करने में सहायक सिद्घ होती हैं। इस दवा को लेकर कई सफल ट्रायल किए गए हैं। कई देशों में मधुमेह से पीड़ित रोगियों ने भी इस दवा का लोहा माना है।

जादुई अदरक के एक टुकड़े से दूर करें अनेक बीमारियां

 मधुमेह को मात देने की चल रही तैयारी
2025 तक मधुमेह रोगियों की तादाद  6.99 करोड़ तक पहुंच सकती है।  विश्व में सबसे अधिक मधुमेह रोगी भारत में हैं। इसलिए सरकार ने भविष्य को देखते हुए इससे गंभीरतापूर्वक निपटने की तैयारी कर रही है। खास बात यह है कि इस पूरी योजना में आयुर्वेंदिक दवाइयों की भूमिका प्रमुख रहेगी। भारत सरकार आयुष ग्रिड की स्थापना में जुटी है और संबंधित कार्यक्रम कई जिलों में शुरू भी कर दिए गए हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.