Wednesday, Apr 14, 2021
-->
the second wave of corona is fatal for the elderly direct damage to lungs anjsnt

बुजुर्गों के लिए घातक है कोरोना की दूसरी लहर! फेफड़ों को कर रही सीधे नुकसान

  • Updated on 4/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus)  का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है इस बार महामारी की दूसरी लहर का सबसे ज्यादा असप बुजुर्गों पर दिखाई दे रहा है। 

वहीं अगर विशेषज्ञों की मानें तो ये वायरस अब लोगों के फेफड़ों को नुकसान पहुंचा रहा है। मुंबई के एक बुजुर्ग दंपति को 2 दिन से बुखार आ रहा था जब डॉक्टर्स ने उन्हें सलाह दी कि वो कोरोना की जांच का ले। जब उनकी रिपोर्ट आई तो वो पॉजिटिव आई है और ये वायरस उनके फेफड़ों तक पहुंचकर उन्हें नुकसान पहुंचा रहा था।   

कोरोना की चपेट में त्रिपुरा के CM बिप्लव कुमार देव, खुद को किया क्वारंटाइन

जानें कितनी खतरनाक है दूसरी लहर
जब देश में कोरोना वायरस की पहली लहर चल रही थी उस वक्त इस वायरस को फेफड़ों तक पहुंचने में करीब 10 दिनों का वक्त लगता था लेकिन अब महामारी की इस दूसरी लहर में इस वायरस को फेफड़ों तक पहुंचने में लगभग 3 दिन का वक्त लगा है। इस बुजुर्ग के फेफड़े में ये वायरस 3 दिन में पहुंच चुका था और उन्हें निमोनिया हो गया था।

गुजरात में तेजी से बढ़ा कोरोना आंकड़ा, कोर्ट के सुझाव पर सरकार ने 20 शहरों में लगाया नाइट कर्फ्यू

बुजुर्गों पर ज्यादा खतरा
कोरोना की दूसरी लहर में जिस तरह से केस बढ़ रहे हैं उससे ये साफ हो गया है कि ये महामारी की दूसरी लहर पहले से कितनी खतरनाक है। ये वायरस इस बार सीधे फेफड़ों पर हमला कर रहा है। जो बुजुर्गों के लिए काफी घातक साबित हो रहा है। अगर आपके घर में कोई बुजुर्ग हैं तो आप उसकी कोरोना जांच के साथ ही उनका सीटी स्कैन भी करा ले जिससे फेफड़ो में संक्रमण है या नहीं इसका पता चल सकें।

भारत में एक दिन में 1.15 लाख केस
देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1.15 लाख से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं और ये देश में वैश्विक महामारी फैलने की शुरुआत होने के बाद से संक्रमण के अब तक के सबसे ज्यादा दैनिक मामले हैं। देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,28,01,785 हो गयी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को बताया कि तीन दिन में दूसरी बार ऐसा हुआ है, जब कोराना वायरस संक्रमण के एक दिन में एक लाख से ज्यादा मामले सामने आए हैं। मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 1,15,736 मामले सामने आए तथा 630 और मरीजों की मौत हो जाने से मृतकों की संख्या बढ़कर 1,66,177 हो गयी।

टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन से लेकर सर्टिफिकेट तक हर सवाल का जवाब है यहां, पढ़ें पूरी खबर

4 हफ्ते बाद बेहद खतरनाक स्थिति में देश
देश में लगातार 28वें दिन संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी होने से उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी बढ़कर 8,43,473 हो गयी है जो कि संक्रमण के कुल मामलों का 6.59 प्रतिशत है। वहीं, लोगों के स्वस्थ होने की दर भी गिरकर 92.11 प्रतिशत हो गयी है। देश में उपचाराधीन मरीजों की सबसे कम संख्या 12 फरवरी को थी। देश में 12 फरवरी को यह संख्या 1,35,926 थी जो कि संक्रमण के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.