Monday, Dec 06, 2021
-->
why this leptospirosis dieases increase and what are the reasons

बारिश में तेजी से फैल रही लेप्टोस्पायरोसिस बीमारी, जानें इसके लक्षण और बचाव के कारण

  • Updated on 7/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मानसून का सीजन (Monsoon Season) चल रहा है और ऐसे सीजन में कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है जिसमें आमतौर पर डेंगू (Dengue), मलेरिया (Malaria), और वाइरल फीवर (Viral Fever) आदि शामिल होते हैं। लेकिन एक बीमारी से अब तक सभी लोग अंजान है जो बारिश के मौसम में अधिकतर फैलता है। हम बात कर रहे हैं लेप्टोस्पायरोसिस बीमारी (Leptospirosis Dieases) की।

वर्किंग वुमन सेहत से न करें समझौता, फिट रहने के लिए अपनाएं ये खास Tips

दरअसल, यह एक ऐसी बीमारी है जो हमारे आसपास या हमारे घर में मौजूद जानवरों के कारण उत्पन्न होती है। यही नहीं, ये बीमारी इतनी संक्रामक है की यह जानवरों (Animals) से इंसानों में भी प्रवेश कर जाती है। बारिश के मौसम में ये बीमारी इतनी खतरनाक हो जाती है कि, ये इंसान को कट लग जाने या घाव (Injury) होने पर उस जगह संक्रमण तेजी से फैल जाता है जिससे खतरा बढ़ जाता है।

लेप्टोस्पायरोसिस (Leptospirosis) एक बेहद संक्रामक (Virus) और खतरनाक बीमारी है जिसकी चपेट में आने से इंसान इससे ग्रसित हो जाता है और कई बार उसकी मौत भी हो जाती है। इससे निपटने के कुछ ऐसे तरीके हैं जिससे आप अपना बचाव कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं इसके लक्षण और इससे बचने के कुछ आसान से उपाये।

फटे हुए दूध के पानी से मिल सकते हैं 5 लाभ, खबर में पढ़ें

क्या है लेप्टोस्पायरोसिस के लक्षण 

ये एक बैक्टीरियल इन्फेक्शन है जो जानवरों के कारण फैलता है। इस संक्रामक बीमारी के अधिकतर लक्षण कुत्ते, चूहे, गिलहरी, भैंस, घोड़े, भेड़, बकरी और सूअर में ज्यादा पाए जाते हैं। इसके अलावा ये बीमारी जानवरों के पेशाब से संक्रमण के रूप में फैलती है। वैसे तो इस बीमारी के कई उपचार है लेकिन ज्यादा स्थिती खराब होने पर इंसान की जान भी जा सकती है।

क्या है इस बीमारी के लक्षण 

1) तेज बूखार (आमतौर पर 100.4-104 डिग्री फारेनहाइट के बीच होना)।
2) सिर दर्द होना।
3) मतली और उलटी आना।
4) पिंडली की मांसपेशियों और पीठ के निचले हिस्से में दर्द उठना।
5) कंजक्टिवाइटिस (आंखों में जलन और लाल हो जाना)।
6) त्वचा पर लाल दाने निकलना।

इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स बच्चों के लिए हैं बेहद खतरनाक, शरीर को ऐसे पहुंचा रहे नुकसान

कैसे करें इससे बचाव

1) दूषित पानी से करें अपना बचाव

आमतौर पर ये बीमारी बारिश में गंदे पानी के कारण फैलती है और इससे अपना बचाव करने के लिए गंदे पानी (Contaminated Water) से जितना हो सके दूर रहना चाहिए।

2) जानवरों और चूहों से रहे दूर 

ये बीमारी ज्यादातक जानवरों और चूहों से ज्यादा फैलती है इससे बचाव करने के लिए अपने घर या आसपास चूहें (Rats) हो तो उन्हें दूर भगाने की कोशिश करें। इसके अलावा घर को साफ रखें और कोई खाने की चीज खूली ना छोड़े। 

3) गंदे शौचालय का ना करें इस्तेमाल 

अगर आप सफर (Travelling) कर रहें हैं या पब्लिक टॉयलेट (Public Toilets) यूज कर रहे हैं तो इस बात का विशेष ध्यान रखें की वह शौचालय साफ हों और गंदा ना हो। ऐसा होने पर बैक्टिरिया (Bacteria) के संक्रमण ज्यादा तेजी से फैलते हैं। कोई भी ऐसी स्थिती उत्पन्न होने पर तुरंत डॉक्टर (Doctors) को संपर्क करें।

comments

.
.
.
.
.