-indiscipline-and-arbitrariness-are-increased-among-police-employees

पुलिस कर्मचारियों में दिनों दिन बढ़ रही ‘अनुशासनहीनता और मनमानियां’

  • Updated on 8/11/2019

हालांकि पुलिस (Police) विभाग पर देशवासियों की सुरक्षा (Security) का जिम्मा होने के नाते इनसे अनुशासित और कत्र्तव्य परायण होने की अपेक्षा की जाती है परन्तु आज देश में अनेक पुलिस कर्मचारी अपने आदर्शों से भटक कर नशाखोरी, लूटमार (Robbery), बलात्कार (Rape) व रिश्वतखोरी जैसे अपराधों में संलिप्त पाए जा रहे हैं। 
यही नहीं अनेक स्थानों पर पुलिस कर्मचारियों के कई-कई दिनों बल्कि महीनों तक बिना छुट्टी लिए ड्यूटी से गायब रहने और राजनीतिक संरक्षण के चलते विभागीय कार्रवाई से बच निकलने की शिकायतें भी आम हैं। 

इसी कारण हाल ही में मोगा जिले के पुलिस अधिकारियों ने जिले के विभिन्न थानों में तैनात 64 ऐसे कर्मचारियों की पहचान करके उनमें से 17 पुलिस कर्मचारियों को जब्री रिटायर कर दिया है। इनमें से अनेक ड्यूटी के दौरान गैर-हाजिर या शराब पीकर ड्यूटी करते पाए गए। 
इनके अलावा भी विभिन्न राज्यों में अनियमितताओं में संलिप्त पाए जाने वाले पुलिस कर्मियों की सूची बहुत लम्बी है जिनके चंद उदाहरण निम्र में दर्ज हैं :

धारा 370 पर शिवराज का बड़ा बयान बोले, नेहरु क्रिमिनल थे किया जुर्म

  • 16 जुलाई को पटना के गांधी मैदान थाना के पुलिस अधिकारियों ने रहस्यमय रूप से लापता हुए अपने ही विभाग के एक कांस्टेबल के शव को लावारिस बताकर उसका दाह संस्कार कर दिया।  
  • 01 अगस्त को रोहतक में विजीलैंस के डी.एस.पी. नरेन्द्र पर उनकी मातहत महिला सिपाही ने उससे छेड़छाड़ करने व विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया व शिकायत दर्ज करवाई।
  • 01 अगस्त को पुलिस चौकी जेजों दोआबा के प्रभारी एस.आई. जगदीश लाल को विजीलैंस ने 25,000 रुपए रिश्वत लेते हुए पकड़ा। 
  • 02 अगस्त रात को लुधियाना पुलिस के ए.एस.आई. जसविंद्र सिंह और उसके बेटे ने कुछ अज्ञात लोगों के साथ मिलकर सुंदर नगर में अपने पड़ोसी के घर पर पत्थर बरसाए और उनकी दो गाडिय़ों को भी तोड़ दिया। 

जम्मू-कश्मीर: राहुल ने मोदी पर साधा निशाना कहा, PM बतायें राज्य में कैसे हैं हालात

  • 05 अगस्त को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पुलिस थाने में दर्ज करवाई गई रिपोर्ट के अनुसार सुनवाई के लिए बंगाल ले जाई जा रही तिहाड़ जेल की एक महिला कैदी से चलती गाड़ी में एक सिपाही ने बलात्कार कर डाला। 
  • 05 अगस्त को कानपुर के चकेरी थाने में तैनात कलीम नामक एक सिपाही ने मालखाने में पड़ी जब्त चरस की खेप में से 5 किलो चरस बेच दी। 
  • 08 अगस्त को लुधियाना सैंट्रल जेल सिक्योरिटी जोन में तैनात कांस्टेबल जितेन्द्र कुमार जेल में बंद एक गैंगस्टर के लिए लंच बॉक्स में रोटी के बीच छुपा कर एक मोबाइल ले जाते हुए पकड़ा गया। 
  • 09 अगस्त को बिहार के गोपालगंज जिले के थाने में पड़ी जब्तशुदा शराब बेचते हुए 4 पुलिस कर्मचारी पकड़े गए। 

कश्मीर में तनाव के बीच पर्यटन से जुड़े कारोबारियों को सता रही है फ्यूचर की चिंता

  • उक्त उदाहरणों से स्पष्ट है कि नागरिकों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार पुलिस विभाग आज किस कदर अपने कत्र्तव्यों से भटक चुका है लिहाजा जिस प्रकार मोगा जिले के 17 पुलिस कर्मचारियों को जब्री रिटायर किया गया है उसी प्रकार देशभर में ऐसे कत्र्तव्य विमुख पुलिस कर्मचारियों का पता लगाकर उनके विरुद्ध तेजी से कार्रवाई करके उन्हें शिक्षाप्रद दंड दिया जाना चाहिए ताकि वे अपनी करतूतों से बाज आएं व दूसरे कर्मचारियों को नसीहत मिले।                                             

—विजय कुमार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.