Tuesday, Oct 19, 2021
-->
1.5 lakh students of class 10th-12th will give compartment exam: cbse exam controller

10वीं-12वीं के 1.5 लाख छात्र देंगे कंपार्टमेंट परीक्षाः सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक

  • Updated on 8/24/2021

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 10वीं-12वीं कक्षा के छात्रों के लिए बुधवार से कंपार्टमेंट परीक्षाओं का आयोजन शुरू कर रहा है। जिसके लिए बोर्ड ने देश-विदेश में 1500 परीक्षा केंद्र बनाए हैं। 10वीं के छात्र आज इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी और 12वीं कक्षा के छात्र अंग्रेजी कोर विषय का पेपर देंगे। दोनों कक्षाओं के छात्रों की परीक्षा सुबह 10.30 बजे शुरू होगी। उत्तर पुस्तिका मिलने के बाद 15 मिनट छात्रों को दिए जाएंगे।

सीबीएसई 10वीं-12वीं के छात्रों की कंपार्टमेंट परीक्षाएं कल से

कोविड-19 नियमों से परीक्षा के लिए देश विदेश में बनाए गए 1500 परीक्षा केंद्र 
बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक डॉ. संयम भारद्वाज ने मंगलवार को बताया कि परीक्षा केंद्र बनाए गए सभी डेढ़ हजार स्कूलों को सारी सूचनाएं दे दी गईं हैं। स्कूल कोरोना नियमों से कंपार्टमेंट-इंप्रूवमेंट परीक्षा लेने को पूरी तरह तैयार हैं। अभिभावकों को और परीक्षा देने जा रहे छात्रों को पत्र लिखकर कोरोना नियमों और परीक्षा नियमों का पालन करने की अपील की गई है। हमने परीक्षा केंद्रों पर छात्रों की बेहद कम संख्या रखी है। एक-दो परीक्षा केंद्र तो ऐसे भी हैं जहां केवल 2 छात्र ही परीक्षा देंगे। 

आईआईटी दिल्ली ने वायु प्रदूषण सोखने में सक्षम कपड़ा किया विकसित

फेल छात्रों को भी दिया गया रिजल्ट सुधारने का अवसर 
इस वर्ष रिजल्ट बेहतर रहने के कारण कंपार्टमेंट और फेल होने वाले छात्रों की संख्या बहुत कम है। इसलिए 10वीं-12वीं दोनों कक्षाओं के छात्रों को मिलाकर केवल डेढ़ लाख छात्र ही परीक्षा देंगे। इस कंपार्टमेंट परीक्षा में हमने फेल छात्रों को भी परीक्षा रिजल्ट सुधारने का अवसर दिया है। अगर वह फेल विषय में परीक्षा देकर रिजल्ट सुधार सके तो उन्हें फिर से उसी कक्षा में नहीं पढऩा होगा। कंपार्टमेंट-इंप्रूवमेंट के साथ साथ व्यक्तिगत व पत्राचार विद्यार्थियों की मुख्य परीक्षाएं भी आयोजित की जा रही हैं। 

वैज्ञानिक का दावा- कोरोना महामारी की तीसरी लहर नवंबर में होगी चरम पर, अगर...

स्वकेंद्र परीक्षा नहीं होगी, बनाए गए परीक्षा केंद्र 
बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि हमने इस बार स्वकेंद्र परीक्षा नहीं रखी है। सभी छात्रों को दूसरा स्कूल परीक्षा केंद्र के रूप में दिया गया है। सिर्फ कुछ स्कूलों को छात्रों की यात्रा की सहूलियत को देखते हुए स्वकेंद्र रखा गया है। क्योंकि वहां आस-पास काफी दूर तक कोई दूसरा स्कूल नहीं था। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.