Wednesday, Aug 10, 2022
-->
10-000-doctors-will-perform-protest-march-from-aiims-to-parliament-tomorrow

सरकार के नए कानून के विरोध में कल AIIMS से संसद तक 10,000 डॉक्टर्स करेंगे प्रदर्शन

  • Updated on 2/5/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र सरकार देश में चिकित्सा का नया कानून नेशनल काउंसिल (एनएमसी ) लागू करने वाली है। इस कानून को लोकसभा में पेश कर दिया गया है। इस कानून का डॉक्टरों द्वारा जमकर विरोध किया जा रहा है। विरोध के चलते इस कानून को संशोधन के लिए स्टेंडिंग कमेटी के पास भेज दिया गया है। एनएमसी को एक बार फिर इस सप्ताह लोकसभा में पेश किया जाएगा। 

दिल्ली: आज फिर से शुरू सीलिंग , मॉनिटरिंग कमेटी ने कसी कमर

लोकसभा में दोबारा इस कानून को पेश करने से पहले ही डॉक्टरो और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और डॉक्टरों में सवाल जवाब शुरू हो गए है। चार दिन पहले मंत्रालय ने 30 सवालों का जवाब देते हुए इस कानून को मरीजों के लिए जरूरी बताया। वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने पलटवार करते हुए मंत्रालय के सभी जवाबों का पक्ष रखते हुए कानून में सशोधन की बात कही।

अब इस मामले पर एम्स के डॉक्टरों  ने एनएमसी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया। एम्स के रेजीडेंट डॉक्टरों और फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (फोर्डा) ने सभी डॉक्टर्स से प्रदर्शन में हिस्सा लेने की अपील की जिसके बाद 6 फरवरी को देश के करीब 10 हजार डॉक्टर्स इसमें दिस्सा लेंगे। 

छात्रा को प्रोफेसर ने भेजे अश्लील मैसेज, केस दर्ज

एम्स रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. हरजीत सिंह भट्टी का कहना है कि नेशनल मेडिकल काउंसिल में संसोधिन करना जरूरी है। अगर सरकार बिना किसी संशोधन के इस कानून को देश में लागू करती है तो ये चिकित्सा वर्ग के खिलाफ होगा। इसलिए हम सब कल यानी 6 फरवरी को दोपहर 1 बजे से एम्स से संसद तक अपनी आवाज उठाएंगे और विरोध मार्च निकालेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.