Monday, Dec 06, 2021
-->
10th and 12th classes will start in Delhi from January 18 sohsnt

दिल्ली में 18 जनवरी से शुरू होंगी 10वीं और 12वीं की क्लास, इन बातों का रखना होगा ध्यान

  • Updated on 1/13/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना महामारी के बीच दिल्ली सरकार (Delhi govt) ने राजधानी में दसवीं और बारहवीं के लिए स्कूल खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं। आगामी बोर्ड परीक्षाओं की तैयारियों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है। ऐसे में अब 18 जनवरी से कोरोना गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए स्कूलों को खोला जाएगा। 

पुडुचेरी: पोंगल के मद्देनजर 4 दिनों के लिए सभी सरकारी और निजी स्कूल बंद, 4 जनवरी से शुरू हुई थी कक्ष

16 मार्च, 2020 से बंद हैं दिल्ली के स्कूल
दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते कहर को देखते हुए 16 मार्च, 2020 में केजरीवाल सरकार ने सभी स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी किया था। देश में अब जब कोरोना के नए मामलों में राहत दिखने लगी है तो सरकार ने स्कूल खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं। हालांकि इससे पहले सभी क्लास ऑनलाइन चल रही थीं। 

विश्व हिंदी दिवस: अब हिंदी वैश्विक स्तर की भाषा बन गई है

सरकार मेडिकल कॉलेज खोलने की दे चुकी है अनुमति
इससे पहले दिल्ली सरकार लॉकडाउन से ही बंद चल रहे मेडिकल कॉलेजों (Delhi medical Colleges) को खोलने का फैसला कर चुकी है। दिल्ली सरकार ने उनके अधीन आने वाले मेडिकल कॉलेजों को खोलने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

केजरीवाल सकार दिल्ली में खोलेगी कोंकणी अकादमी, मिली कैबिनेट की मंजूरी

इन कॉलेजों को खोलने का लिया निर्णय
ऐसे में मॉलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंस सहित दिल्ली सरकार के अस्पतालों से जुड़े सभी मेडिकल कॉलेज अब खुल जाएंगे और उनमें पठन-पाठन का कार्यशुरू हो जाएगा। हालांकि अभी मेडिकल के सभी छात्रों को एक साथ नहीं बुलाया जाएगा। सरकार द्वारा जारी आदेश में साफ किया गया है कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए बनाए गए नियमों का पालन करना और सामाजिक दूरी को बनाए रखना जरूरी होगा।

हल्का होगा छात्रों के कंधे का बोझ, दिल्ली सरकार ने लागू की स्कूल बैग पॉलिसी 2020

चरणबद्ध तरीके से बहाल होंगी कक्षाएं
विभिन्न शैक्षणिक सत्र की कक्षाएं चरणबद्ध तरीके से बहाल होंगी। आदेश में कहा गया है कि मेडिकल छात्रों को चरणबद्ध तरीके से ही बुलाया जाएगा और कॉलेज खुलने के 2 माह के भीतर छात्रों का प्रशिक्षण और प्रैक्टिकल का काम पूरा कराया जाएगा। इसके बाद अंतिम वर्ष के छात्रों को कॉलेज बुलाया जाएगा। 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.