Wednesday, Oct 20, 2021
-->
12 institutes from India included in world''s top 500 in QS World University Rankings

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में विश्व के टॉप 500 में शामिल हुए भारत के 12 संस्थान

  • Updated on 9/23/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। क्यूएस यूनिवर्सिटी रैंकिंग में विश्व के टॉप 500 विश्वविद्यालयों में 12 भारतीय संस्थानों को शामिल किया गया है। जिनमें इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस बेंगलूर समेत 5 आईआईटी ने अपनी जगह बनाई है। इनमें 151-60 बैंड के साथ आईआईटी मुम्बई पहले, 201-50 बैंड में आईआईटी खडग़पुर, 251-300 बैंड में आईआईटी कानपुर और 500 बैंड में आईआईटी रुडक़ी ने जगह बनाई है।

प्रो. योगेश सिंह बने दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति

आईआईटी दिल्ली ने क्यूएस रोजगार रैंकिंग में 20 स्थान की लगाई छलांग
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) दिल्ली ने वीरवार को जारी की गई क्यूएस स्नातक रोजगार संबंधी रैंकिंग 2022 में 20 स्थानों की छलांग लगाने में सफल रहा है। संस्थान को इस बार प्रतिष्ठित क्वाक्वेरेली साइमंड्स रैंकिंग में 131-140 बैंड में जगह दी गई है। जोकि बीती बार के बैंड 151-160 से 20 अधिक है। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रो. वी राम गोपाल राव ने कहा कि आईआईटी दिल्ली के लिए ये गर्व की बात है कि उसने 20 स्थानों का सुधार किया है। बीते कुछ वर्षों में हम घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों प्रकार की रैंकिंग में लगातार सुधार कर रहे हैं। ये हमारे पिछले कुछ वर्षों में किए गए प्रयासों-उपायों का परिणाम है जो अब अपना प्रभाव दिखा रहा है।

बोर्ड रिजल्ट दस्तावेजों के लिए सीबीएसई ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी का करेगी इस्तेमाल

संस्थानों ने कौशल युक्त स्नातक तैयार करने की क्षमता प्रदर्शित की है ः क्यूएस 
लंदन स्थित क्वाकक्वारेली साइमंड्स (क्यूएस) ने अपनी वेबसाइट पर जारी किए एक नोट में कहा कि दुनिया कोविड-19 महामारी के प्रभावों से उबर रही है, नि:संदेह, ऐसे में आधुनिक नियोक्ताओं को कौशल एवं गुणवत्ता युक्त स्नातकों की बहुत अधिक जरूरत है। इसमें कहा गया है कि रैंकिंग में आने वाले प्रत्येक विश्वविद्यालयों ने आधुनिक कार्य स्थलों के लिये कौशल युक्त स्नातक तैयार करने की क्षमता प्रदर्शित की है। संस्था ने कहा कि दुनिया भर के उच्च शैक्षिक संस्थानों की रैंकिंग करते समय क्यूएस इस बात पर विचार करता है कि नियोक्ताओं के बीच संस्थानों की किस प्रकार की प्रतिष्ठा है और संस्थान कंपनियों के साथ किस प्रकार से जुड़े हैं।

comments

.
.
.
.
.