Monday, Jan 21, 2019

13 वर्षीय भारतीय किशोर दुबई में बना सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी का मालिक

  • Updated on 12/16/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चार वर्ष पहले महज नौ साल की उम्र में अपनी पहली मोबाइल एप्लिकेशन बनाने वाला एक भारतीय किशोर 13 साल की उम्र में दुबई में एक सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट कंपनी का मालिक बन गया है। एक मीडिया रिपोर्ट में रविवार को यह जानकारी दी गई है।

विक्रमसिंघे ने ली श्रीलंका के प्रधानमंत्री पद की शपथ

केरल के छात्र आदित्य राजेश ने केवल नौ वर्ष की उम्र में ही अपनी पहली मोबाइल एप्लिकेशन बना ली थी। वह लोगों के लिए वेबसाइट भी बना रहा है। खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार मात्र पांच साल की उम्र में कंप्यूटर का उपयोग शुरू करने वाले तकनीक के इस जादूगर ने अंतत: 13 साल की उम्र में अपनी कंपनी ‘ट्रिनेट सॉल्यूशंस’ की शुरूआत की है।

नीली आंखों वाली इस गुड़िया को देखकर अच्छे- अच्छों के छूट जाते हैं पसीने, जानिए क्या है खास

आदित्य ने दुबई के अंग्रेजी दैनिक को बताया,‘‘मेरा जन्म केरल के थिरूविला में हुआ था और जब मैं पांच साल का था तो मेरा परिवार यहां आ गया। पहली बार मेरे पिता ने मुझे बीबीसी टाइपिंग दिखाई थी। यह बच्चों के लिए एक वेबसाइट है जहां छोटी उम्र के छात्र टाइपिंग सीख सकते हैं।’’ ट्रिनेट के कुल तीन कर्मचारी हैं जो आदित्य के स्कूल के मित्र और छात्र हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.