Monday, Jan 21, 2019

सऊदी में 14 युवक बनाए गए बंधक, परिजनों ने सुषमा स्वराज से लगाई गुहार

  • Updated on 11/30/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। रोजगार की तलाश में देश के युवा विदेशों में नौकरी का सपना संजोए किसी दलाल या डीलर की मदद से किसी न किसी देश पहुंत ही जाते हैं। विदेश भेजने के समय दलाल मनचाही तनख्वाह का लालच देकर वह मासूम युवकों से अच्छे खासे पैसे ऐंठते हैं लेकिन जब वह वहां पहुंते हैं तब उन्हें पता चलता है कि उनके साथ धोका हुआ है। ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला मामला हिमाचल प्रदेश में सामने आया जहां 13 युवक अच्छी नौकरी की तलाश में ठग लिए गए।

देश के ज्यादातर युवाओं का सपना होता है कि सऊदी अरब या किसी और देश में जा कर कमाई की जाए। रोजगार की तलाश में ऐसे ही हिमाचल के 13 युवक और 1 पंजाब के रहने वाले लड़के ने  सउदी अरब पहुंच गए जहां अब वह बूरी तरह फंस गए हैं। मिली जानकारी के मुताबिक अब सभी युवकों को वहां बंधुआ मजदूर बनालिया गया है और 12 घन्टे काम कराने के बाद भी उनको सैलरी नहीं दी जा रही है। इतना ही नहीं सभी युवकों के पासपोर्ट भी छीन लिए गए हैं जिस वजह से वह स्वदेश भी नहीं लौट पा रहे हैं।

राजस्थान विधानसभा में भूतों का साया, नहीं रहते कभी भी 200 विधायक साथ

चार महीने पहले गए थे सऊदी
अब यह युवक स्वदेश लौटना चाहतें हैं लेकिन उनके पास कोई भी चारा नहीं है। वहीं, इस मामले को लेकर गुरुवार रात बंधक सुंदरनगर निवासी हरजिंदर सिंह की पत्नी सरोज कुमारी ने पुलिस में शिकायत की जिसके बाद यह मामला प्रकाश में आया। सरोज ने बताया कि उनका पति चार महीने पहले रोजगार की तलाश में सउदी अरब गया था लेकिन अबतक नहीं लौटा है। उसके साथ 13 अन्य लड़के भी उसके साथ गए थे लेकिन सभी को वहां बंधक बना लिया गया है। 

सरोज ने बताया कि हरजिंदर के साथ गए तनुज कुमार, रविकांत, अश्वनी सांयम, श्यामलाल, ओंकार चंद, देवेंद्र कुमार, विक्रम चंद, प्रेम सिंह, देवेंद्र कुमार, जोगिंद्र सिंह, ललित कुमार, मनोज कुमार व भूपेंद्र कुमार हैं। सरोज ने सभी बंधकों के घर वालों को साथ में लेकर पुलिस थाने में अर्जी दी है। सरोज ने अपनी शिकायत में कहा है कि, उनका पति 3 महीने का टूरिस्ट वीजा लेकर सऊदी गया था लेकिन अब उसे वहां चार महीने हो चुके हैं। 

राजस्थान चुनावः जानिए कैसे अपने ही गढ़ में पिछड़ती चली गई कांग्रेस

पासपोर्ट किए जब्त
जाते समय एजेंट ने कहा था कि वह उनके मालिक से बात करके वीजा बढ़वा देगा और इसके ऐवज में उसने 90 हजार रुपये लिए थे। बाद में सउदी पहुंचने के बाद उनके पति से उनका पासपोर्ट छीन लिया गया और बीमारी की हालत में भी उनसे जबरन काम कराया जाता है। इस सिलसिले में जब उनके पति ने एजेंट से बात की तो उसने झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। अब उनका पति देश लौटना चाहता है लेकिन उनके पास कोई रास्ता नहीं है।

पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए कहा कि वह इस सिलसिले में कड़ी कार्रवाइ करेगी और साथ ही सीएम जयराम ठाकुर के सहयोग से विदेशमंत्री सुषमा स्वराज से मदद मांगी जाएगी। पुलिस ने भरोसा दिलाया है कि सऊदी में फंसे युवकों को वापस लाने की पूरी कोशिश की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.