Friday, Jul 01, 2022
-->
2-field-hospitals-will-be-prepared-to-deal-with-the-epidemic-land-has-been-identified

महामारी से निपटने को तैयार किए जांएगे 2 फील्ड हॉस्पिटल, जमीन चिन्हित 

  • Updated on 5/6/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। कोविड-19 अन्य महामरियों से इमरजेंसी में निपटने के लिए जिले में 50-50 बेड के दो फील्ड हॉस्पिटल तैयार किए जाएंगे। इन अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा, महामारी से जुड़ी सभी तरह की जांच करानी की सुविधा उपलब्ध होगी। इसमें एक अस्पताल मोदीनगर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) में तैयार किया जाएगा। इसके अलावा दूसरा वियजनगर में तैयार होगा, हालंाकि अभी जमीन के लिए नगर निगम से मांग की गई है। 

कोरोना संक्रमण का भारत समेत कई देशों में प्रकोप अभी भी बना हुआ है। तीसरी लहर में कोरोना जैसी महामारी के चलते मरीजों को बेड से लेकर, ऑक्सीजन की कमी का सामना करना पड़ा था। आगे इस तरह की महामारी से निपटने के लिए शासन स्तर से पहले ही तैयारी की जा रही है। इसके लिए शुरूआती चरण में 50 बेड के फील्ड हॉस्पिटल तैयार किए जाएंगे। इसमें ऑक्सीजन से लेकर अन्य सुविधा मरीजों को प्रदान होगी। जिससे महामारी के दौरान मरीजों को सरकारी स्तर पर उपचार की समस्या से न गुजरना पड़ें।

जिला स्वास्थ्य विभाग के जेई आदित्य कुमार शर्मा ने बताया कि शासन स्तर से फील्ड हॉस्पिटल के लिए स्थान का चिन्हित करने कर भेजने को कहा गया था। इसके एवज में मोदीनगर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जमीन की तलाश की गई, यहां 50 बेड का फील्ड हॉस्पिटल तैयार किया जा सकता है। इस संबंध में शासन को भेज दिया गया है। शासन से अग्रिम निर्देशों का इंतजार है। इसके अलावा विजयनगर में निर्माणाधीन 50 बेड के हॉस्पिटल के निकट ही खाली पड़ी 11 हजार वर्ग मीटर जमीन पर दूसरा फील्ड हॉस्पिटल बनाने पर विचार किया जा रहा है। जमीन की मांग को लेकर नगर निगम को लिखा गया है। 

इन सीएचसी-पीएचसी पर भी बढाए जाएंगे बेड 
जिले में मोदीनगर, मुरादनगर, लोनी व डासना सीएचसी में 20-20 बेड का वार्ड तैयार किया जाएगा। अभी 30 बेड मौजूद है। जबकि फरीदनगर, निवाड़ी, ग्यासपुर, सुराना, चिरौड़ी, पसौंडा, फरूखनगर, त्यौड़ी, तलहटा कुल 9 पीएचसी पर 6-6 बेड के वार्ड तैयार होंगे। यहां अभी 10-10 बेड है। वार्ड का निर्माण का कार्य अगले माह से शुरू कर दिया जाएगा। इसके अलावा मुरादनगर व लोनी में सीएचसी पर पब्लिक हैल्थ लैब भी तैयार की जाएगी। जहां सभी ब्लड व अन्य जांच हो सकेगी।

स्वास्थ्य सेवाओं में हो रहा सुधार    
सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर का कहना है कि स्वास्थ्य सेवाओं को और बेहतर करने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहें है। सीएचसी-पीएचसी पर बेड की संख्या में बढ़ोतरी की जा रही है। महामारी के दौरान भी मरीजों को समय पर उपचार मिल सकें, इसके लिए भी लगातार प्रयास किया जा रहा है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.