Saturday, Nov 27, 2021
-->
2200 blacklisted foreign nationals banned travelling to india tablighi jamaat activities rkdsnt

तबलीगी जमात प्रकरण से जुड़े 960 विदेशी नागरिकों को सरकार ने काली सूची में डाला

  • Updated on 6/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र की मोदी सरकार ने तबलीगी जमात प्रकरण से जुड़े 2200 विदेशी नागरिकों को काली सूची में डाल दिया है। अब ये नागरिक अगले दस साल तक तबलीगी जमात की गतिविधियों में शामिल नहीं हो सकेंगे। बता दें कि सुरक्षा एजेंसियां दिल्ली दंगे के तार अब तब्लीगी जमात से भी जुड़े होने का दावा कर रही है। 

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने कोरोना से मौत के मामालों पर भाजपा सरकार पर बोला हमला

AAP सरकार की सजगता के बावजूद दिल्ली में रिकॉर्ड कोरोना मामले, जानिए पिछले 24 घंटों का हाल

इसके अलावा इन विदेशी नागरिकों पर कोरोना वायरस से जुड़े नियमों के उल्लंघन का भी आरोप है। ये लोग प्रशासन को बिना सूचित किए कार्यक्रम में शामिल हुए और बिना बताए ही विभिन्न राज्यों में संक्रमण फैलाते रहे। इससे कोरोना संक्रमण कई गुना फैल गया। 

कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर चलाया अभियान- भटकी रेल पीयूष गोयल फेल

दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट में दावा किया है कि हिंसा के दौरान मास्टर माइंड फैजल फारूक तब्लीगी जमात के चीफ मौलाना साद के करीबी अब्दुल अलीम के भी संपर्क में था। सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने दंगों में रोल अदा करने वाले फैजल फारूक के कॉल रिकॉर्ड खंगाला है, जिसमें पता चला कि फैजल पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया, पिंजरा तोड़ समूह, जामिया समन्वय कमेटी और हजरत निजामुद्दीन मरकज के प्रमुख सदस्यों के संपर्क में था।

योगेंद्र यादव बोले- चीन सीमा पर अपनी गंभीर भूल के चलते मोदी सरकार फंस गई है, लेकिन ...

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.