Friday, Jan 28, 2022
-->
252 buyers should be paid by january 17, otherwise be ready to go to jail

252 बायर्स को 17 जनवरी तक करे भुगतान, नहीं तो जेल जाने को रहे तैयार

  • Updated on 1/12/2022

नई दिल्ली,(टीम डिजिटल):दिल्ली से सटे नोएडा में सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट ट्विन टावर मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक को फटकार लगाई है। अदालत ने सुपरटेक को 17 जनवरी तक घर खरीदारों को भुगतान करने का निर्देश दिया है और ऐसा नहीं किए जाने पर जेल भेजने की चेतावनी भी दी है। अदालत ने नोएडा प्राधिकरण से उस एजेंसी के नाम पर फैसला करने को कहा है जिसे सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट हाउसिग प्रोजेक्ट की ट्विन टावरों को गिराने का काम दिया जाएगा। कोर्ट ने प्राधिकरण को 17 जनवरी को जवाब देने का निर्देश दिया है। 

सुपरटेक के दोनों टावरों में 950 से ज्यादा फ्लैट्स बनाए जाने थे। 32 फ्लोर का कंस्ट्रक्शन पूरा हो चुका था जब एमराल्ड कोर्ट हाउजिंग सोसायटी के बाशिदों की याचिका पर टावर ढहाने का आदेश 2014 में आया। 633 लोगों ने फ्लैट बुक कराए थे। जिनमें से 248 रिफंड ले चुके हैं, 133 दूसरे प्रोजेक्ट्स में शिफ्ट हो गए, लेकिन 252 ने अब भी निवेश कर रखा है। अदालत ने नोएडा प्राधिकरण की हरकतों को सत्ता का आश्चर्यजनक व्यवहार करार दिया था। तय समय बीतने के बावजूद फ्लैट 252 खरीदारों को 12 प्रतिशत ब्याज के साथ रुपये नहीं लौटाए जा सके हैं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार सुपरटेक ग्रुप को 30 अक्तूबर तक 252 खरीदारों को 12 प्रतिशत ब्याज के साथ रकम लौटानी थी। यह रकम करीब 100 करोड़ रुपये से अधिक बैठ रही थी। इसके चलते ग्रुप के अधिकारी पिछले दो माह से प्रयास में जुटे थे कि इन खरीदारों को वह ग्रुप के दूसरे प्रोजेक्ट में यूनिट देकर समझौता कर सकें लेकिन अधिकांश खरीदार अपनी रकम वापस मांग रहे थे। 

टावर ध्वस्तीकरण के लिए 17 को जवाब दे प्राधिकरण 
सुप्रीम कोर्ट ने 31 अगस्त 2021 को सुपरटेक के दोनों टावरों सियान और एपेक्स को ध्वस्त करने के लिए 30 नवंबर तक का समय दिया था। टावर तय समय में ध्वस्त नहीं किए जा सके। इसके लिए सुपरटेक ने यूएसए की कंपनी एडफिस का चुना था। कार्ययोजना प्राधिकरण में प्रस्तुत की गई थी। जिस पर सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट ने सुझाव दिए थे। यह सुझाव कार्ययोजना में दोबारा से शामिल करने के लिए प्राधिकरण ने कहा है। बहरहाल सुप्रीम कोर्ट ने प्राधिकरण को 17 जनवरी तक अपना जवाब देने के लिए कहा है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.